COVID-19: मई के आखिर तक भारत में उपलब्ध होगी रशियन वैक्सीन Sputnik V, 5 करोड़ से ज्यादा डोज को होगा उत्पादन

कॉन्सेप्ट इमेज.

कॉन्सेप्ट इमेज.

रूस की कोविड-19 वैक्सीन स्पूतनिक वी (Sputnik-V) की पहली खेप मई के अंत तक भारत आ जाएगी. इन गर्मियों में भारत में Sputnik V वैक्सीन की 5 करोड़ से ज्यादा डोज का उत्पादन होगा.

  • Share this:
नई दिल्ली: डॉ रेड्डी लेबोरेटरीज (Dr Reddys) ने मंगलवार को कहा कि उसे उम्मीद है कि रूस की कोविड-19 वैक्सीन स्पूतनिक वी (Sputnik-V) की पहली खेप मई के अंत तक भारत आ जाएगी. कंपनी को भारतीय दवा नियामक से स्पूतनिक वी के सीमित आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मिली है. डॉ रेड्डी और रशियन डायरेक्टर इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) ने सितंबर 2020 में स्पूतनिक वी के चिकित्सकीय परीक्षणों के लिए एक समझौता किया था. कंपनी के पास भारत में इस वैक्सीन की 12.5 करोड़ खुराकों के वितरण का अधिकार है.

डॉ रेड्डी के एक प्रवक्ता ने ईमेल के जवाब में पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘हम पहली खेप को चालू तिमाही में आयात करने की कोशिश कर रहे हैं और हमारी पूरी कोशिश है कि ये मई के अंत तक आ जाए.’’

यह भी पढ़े: केनरा बैंक ग्राहकों के लिए खुशखबरी! अब Uber राइड बुकिंग पर मिलेगी भारी छूट, बचा सकेंगे इतने रुपये

5 करोड़ से ज्यादा डोज का होगा उत्पादन
आपको बता दें डॉ रेड्डीज ने RDIF के साथ इसकी पहले 10 करोड़ डोज के वितरण के लिए भी करार किया था. बाद में इस करार की मात्रा बढ़ाकर 12.5 करोड़ डोज कर दी गई थी. RDIF के सीईओ Kirill Dmitriev ने हाल में एक वर्चुअल कॉन्फ्रेस में कहा था कि उनको उम्मीद है कि इन गर्मियों में भारत में Sputnik V वैक्सीन की 5 करोड़ से ज्यादा डोज का उत्पादन होगा.

आरडीआईएफ के सीईओ किरील दिमित्रिव ने हाल में एक आभासी संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि इस गर्मी तक भारत में पांच करोड़ से अधिक स्पूतनिक वैक्सीन विनिर्मित हो जाएंगी. उन्होंने यह भी कहा कि RDIF ने इस वैक्सीन के उत्पादन के लिए 5 दवा कंपनियों के साथ करार किया है और इसके अलावा और कंपनियों के साथ भी उत्पादन करार करने की कोशिश की जा रही है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज