Home /News /business /

भारत ने अमेरिका को पीछे छोड़ा, बना दुनिया का दूसरा सबसे आकर्षक मैन्युफैक्चरिंग सेंटर, जानें पहले नंबर पर है कौन?

भारत ने अमेरिका को पीछे छोड़ा, बना दुनिया का दूसरा सबसे आकर्षक मैन्युफैक्चरिंग सेंटर, जानें पहले नंबर पर है कौन?

चीन के बाद भारत दूसरा सबसे आकर्षक मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेंटर बन गया है.

चीन के बाद भारत दूसरा सबसे आकर्षक मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेंटर बन गया है.

वैश्विक विनिर्माण जोखिम सूचकांक (Global Manufacturing Risk Index 2021) यूरोप, अमेरिका और एशिया-प्रशांत के 47 देशों में वैश्विक विनिर्माण के लिए आकर्षक या फायदे वाले डेस्टिनेशन का आकलन करता है.

    नई दिल्ली. कोरोना संकट के बीच भारत ने अमेरिका (US) को सबसे आकर्षक मैन्‍युफैक्‍चरिंग डेस्टिनेशन (Manufacturing Destination) के मामले में तीसरे नंबर पर धकेल दिया है. रियल एस्‍टेट सलाहकार कुशमैन एंड वेकफील्‍ड ने बताया कि चीन (China) के बाद भारत (India) दुनिया का दूसरा सबसे पसंदीदा मैन्‍युफैक्‍चरिंग हब बन गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, भारत लागत के मोर्चे पर दक्षता के कारण मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेंटर के तौर पर तेजी से उभरा है. वैश्विक विनिर्माण जोखिम सूचकांक-2021 (Global Manufacturing Risk Index 2021) में चीन पहले पायदान पर बरकरार है.

    किस पायदान पर है कौन-सा देश
    वैश्विक विनिर्माण जोखिम सूचकांक यूरोप, अमेरिका और एशिया-प्रशांत के 47 देशों में वैश्विक विनिर्माण के लिए आकर्षक या फायदे वाले डेस्टिनेशन का आकलन करता है. सबसे ज्‍यादा मांग वाले मैन्‍युफैक्‍चरिंग डेस्टिनेशन में कनाडा (Canada) चौथे, चेक गणराज्य (Czech Republic) पांचवें, इंडोनेशिया (Indonesia) छठे, लिथुआनिया (Lithuania) सातवें, थाइलैंड (Thailand) आठवें, मलेशिया (Malaysia) नौवें और पोलैंड (Poland) दसवें स्थान पर है. पिछले साल की रिपोर्ट में अमेरिका दूसरे और भारत तीसरे स्थान पर था.

    ये भी पढ़ें- LIC में विदेशी निवेशक भी लगाएंगे पैसा, केंद्र सरकार एफडीआई को मंजूरी देने की कर रही है तैयारी!

    भारत की रैंकिंग में कैसे हुआ सुधार
    कुशमैन एंड वेकफील्‍ड (Cushman & Wakefield) के मुताबिक, इससे पता चलता है कि अमेरिका और एशिया-प्रशांत क्षेत्र के मुकाबले मैन्‍युफैक्‍चरर्स भारत में ज्‍यादा रुचि दिखा रहे हैं. परिचालन की परिस्थतियों और लागत दक्षता के कारण मैन्‍युफैक्‍चरिंग डेस्टिनेशन के तौर पर भारत का आकर्षण बढ़ा है. इसके अलावा भारत ने आउटसोर्सिंग की जरूरतों को सफलतापूर्वक पूरा किया है. इससे सालाना आधार पर भारत की रैंकिंग में सुधार हुआ है.

    Tags: America trade, Business news in hindi, India, India-China News, Manufacturing sector

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर