Bribery Risk Matrix: भारत वैश्विक रिश्वत जोखिम सूचकांक में 77वें स्थान पर

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

भारत 45 अंकों के साथ 2020 के व्यापार रिश्वत जोखिमों (Business Bribery Risks) की वैश्विक सूची में 77वें स्थान पर है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत 45 अंकों के साथ 2020 के व्यापार रिश्वत जोखिमों (Business Bribery Risks) की वैश्विक सूची में 77 वें स्थान पर है. रिश्वत रोधी मानक सेटिंग संगठन टीआरएसीई (TRACE) की सूची में 194 देशों, क्षेत्रों और स्वायत्त और अर्ध-स्वायत्त क्षेत्रों में व्यापार रिश्वत जोखिम को शामिल किया जाता है.

इस साल के आंकड़ों के अनुसार, उत्तर कोरिया, तुर्कमेनिस्तान, दक्षिण सूडान, वेनेजुएला और इरीट्रिया सबसे अधिक व्यापारिक रिश्वत जोखिम वाले देश हैं जबकि डेनमार्क, नॉर्वे, फिनलैंड, स्वीडन और न्यूजीलैंड में यह सबसे कम है.

साल 2019 में भारत 78वें स्थान पर था
साल 2019 में भारत 48 अंकों के साथ 78वें स्थान पर था जबकि साल 2020 में 45 अंकों के साथ यह 77 वें स्थान पर है. ये अंक चार कारकों पर आधारित होते हैं जिनमें सरकार के साथ व्यापारिक बातचीत, रिश्वत प्रतिरोधक और प्रवर्तन, सरकार और सिविल सेवा पारदर्शिता, तथा मीडिया की भूमिका सहित नागरिक संगठन निगरानी क्षमता शामिल हैं.
ये भी पढ़ें- 3 साल में पहली बार उच्चतम स्तर पर पहुंचा Bitcoin, PayPal देगा वर्चुअल करंसी खरीदने का मौका



48वें स्थान पर भूटान
आंकड़ों के अनुसार भारत का प्रदर्शन अपने पड़ोसी देशों- पाकिस्तान, चीन, नेपाल और बांग्लादेश से बेहतर रहा है. हालांकि भूटान ने 37 अंकों के साथ 48वां स्थान प्राप्त किया है. 'टीआरएसीई ब्राइबरी रिस्क मैट्रिक्स' ने एक बयान में कहा कि चीन द्वारा अपनी नौकरशाही में सुधार करने से लोक अधिकारियों के रिश्वत मांगने के अवसरों में संभवत: कमी आयी है.

भारत के अलावा, पेरू, जॉर्डन, उत्तरी मैसिडोनिया, कोलंबिया और मोंटेनेग्रो को भी 45 अंक मिले हैं.

ये भी पढ़ें: महिलाओं के लिए इस बैंक ने शुरू किया खास सेविंग अकाउंट, मिलेगा एफडी से ज्यादा मुनाफा और मुफ्त में कई फायदे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज