विदेशी मुद्रा भंडार पर आई पॉजिटिव खबर, खजाना और बढ़ा, जानें कितना है Gold Reserve

विदेशी मुद्रा भंडार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

विदेशी मुद्रा भंडार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, 30 अप्रैल 2021 को समाप्त सप्ताह में एफसीए (FCA) में बढ़त की वजह से विदेशी मुद्रा भंडार (Forex Reserves) में तेजी आई है.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश का विदेशी मुद्रा भंडार (Foreign Exchange Reserves/Forex Reserves) गत 30 अप्रैल को समाप्त सप्ताह में 3.913 अरब डॉलर बढ़कर 589.02 अरब डॉलर पर पहुंच गया. भारतीय रिजर्व बैंक यानी आरबीआई (Reserve Bank of India) के शुक्रवार को जारी आंकड़े ये बताते हैं.

इससे पहले 23 अप्रैल को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 1.701 अरब डॉलर बढ़कर 584.107 अरब डॉलर पर पहुंच गया था. देश का विदेशी मुद्रा भंडार इससे पहले 29 जनवरी 2021 को 590.185 अरब डॉलर की सर्वकालिक ऊंचाई पर पहुंच गया था.

एफसीए के बढ़ने की वजह विदेशी मुद्रा भंडार में बढ़त

इसमें कहा गया है कि 30 अप्रैल 2021 को समाप्त सप्ताह के दौरान विदेशी मुद्रा भंडार में होने वाली वृद्धि मुख्य तौर पर विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां यानी एफसीए (Foreign Currency Assets) बढ़ने से हुई है. यह विदेशी मुद्रा भंडार का एक प्रमुख हिस्सा है. रिजर्व बैंक के साप्ताहिक आंकड़ों के मुताबिक विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां सप्ताह के दौरान 4.413 अरब डॉलर बढ़कर 546.059अरब डॉलर पर पहुंच गईं.
विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां डालर में व्यक्त की जाती हैं. इसमें डॉलर के अलावा यूरो, पाउंड और येन में होने वाली घटबढ़ भी शामिल है. यह सकल विदेशी मुद्रा भंडार का हिस्सा है.

ये भी पढ़ें- वित्त मंत्रालय की रिपोर्ट में दावा, Covid-19 की दूसरी लहर का इकोनॉमी पर रहेगा हल्का असर

देश के स्वर्ण भंडार में भी आई गिरावट



सोने का आरक्षित भंडार इस दौरान 50.5 करोड़ डॉलर घटकर 35.464 अरब डॉलर पर पहुंच गया. आंकड़ों से यह जानकारी मिली है. इसी प्रकार आईएमएफ (IMF) में विशेष निकासी अधिकार (SDR) 30 लाख डॉलर बढ़कर 1.508 अरब डॉलर पर पहुंच गया. वहीं, आईएमएफ के पास देश के आरक्षित भंडार की स्थिति 2 करोड़ डालर बढ़कर 4.99 अरब डॉलर पर पहुंच गई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज