लाइव टीवी

खुशखबरी- इस साल भारत में गेहूं और चावल का रिकॉर्ड उत्पादन होने का अनुमान, जारी हुए आंकड़े

News18Hindi
Updated: February 19, 2020, 11:25 AM IST
खुशखबरी- इस साल भारत में गेहूं और चावल का रिकॉर्ड उत्पादन होने का अनुमान, जारी हुए आंकड़े
गेहूं और चावल का रिकॉर्ड उत्पादन होने का अनुमान, जारी हुए आंकड़े

फसल वर्ष 2019-20 में गेहूं, चावल, मोटे अनाज और दलहन आदि सहित कुल खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 29 करोड़ 19.5 लाख टन होने का अनुमान है, जो पिछले वर्ष 28 करोड़ 52.1 लाख टन से कहीं अधिक होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2020, 11:25 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अच्छी बरसात और ज्यादा बुआई के बीच देश में इस सला गेहूं (India to harvest record rice, wheat crops) की पैदावार 2019-20 में रिकॉर्ड 10 करोड़ 62.1 लाख टन तक पहुंचने की संभावना है. सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, गेहूं का उत्पादन साल-दर-साल बढ़ रहा है और फसल वर्ष 2018-19 में 10 करोड़ 36 लाख टन गेहूं का कीर्तिमान बना था. गेहूं मुख्य रबी (सर्दियों) फसल है. इसकी कटाई अगले महीने शुरू होगी. कृषि मंत्रालय (Ministry of Agriculture) ने खाद्यान्न उत्पादन (wheat production of 106.21 million tonne in the 2019-20 crop year ) का दूसरा अनुमान जारी करते हुए कहा है कि देश में मॉनसून सत्र (जून-सितंबर 2019) में कुल मिला कर बरसात 10 प्रतिशत अधिक थी.अच्छी नमी के चलते फसल वर्ष 2019-20 में अधिकांश फसलों की पैदावार सामान्य से अधिक रहने की संभावना है. जमीन की नमी अच्छी रहने से इस वर्ष गेहूं खेती का रकबा बढ़ने की वजह से गेहूं का रिकॉर्ड उत्पादन होने अनुमान लगाया गया है.

रिकॉर्ड गेहूं के उत्पादन की उम्मीद- मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, इस फसल वर्ष के जनवरी-अंत तक तीन करोड़ 36.1 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में गेहूं की बुआई हुई थी. पिछले साल इसी दौरान गेहूं का यह रकबा दो करोड़ 99.3 लाख हेक्टेयर था. दूसरे अनुमान के अनुसार, फसल वर्ष 2019-20 में गेहूं, चावल, मोटे अनाज और दलहन आदि सहित कुल खाद्यान्न उत्पादन रिकॉर्ड 29 करोड़ 19.5 लाख टन होने का अनुमान है, जो पिछले वर्ष 28 करोड़ 52.1 लाख टन से कहीं अधिक होगा.

ये भी पढ़ें-युवा किसानों को तोहफा! यह बिज़नेस शुरू करने के लिए सरकार देगी 3.75 लाख रुपये, ऐसे उठाए फायदा 







इस बार चालू वर्ष के रबी सत्र में 14 करोड़ 23.6 लाख टन और खरीफ सत्र में 14 करोड़ 96 लाख टन अनाज की पैदावार होने के अनुमान हैं.

धान का उत्पादन-पिछले साल के 11 करोड़ 64.8 लाख टन से मामूली वृद्धि के साथ इस साल 11 करोड़ 74.7 लाख टन होने का अनुमान है, जबकि विभिन्न अनाजों का उत्पादन 26 करोड़ 31.4 लाख टन से बढ़कर 26 करोड़ 89.3 लाख टन होने का अनुमान है.

दालों का उत्पादन- आंकड़ों के अनुसार, इस साल दलहन उत्पादन दो करोड़ 30.2 लाख होने का अनुमान है जो पिछले साल दो करोड़ 20.8 लाख टन था. वर्ष 2019-20 में तिलहन उत्पादन बढ़कर तीन करोड़ 41.8 लाख टन होने का अनुमान है जो पिछले साल तीन करोड़ 15.2 लाख टन था.

गन्ना- नकदी फसलों में गन्ने का उत्पादन उक्त अवधि में पहले के 40 करोड़ 54.1 लाख टन से घटकर 35 करोड़ 38.4 लाख टन रह जाने का अनुमान है.

कपास-वर्ष 2018-19 में कपास का उत्पादन पहले के दो करोड़ 80.4 लाख गांठ से बढ़कर चालू वर्ष में तीन करोड़ 48.9 लाख गांठ (170 किलो प्रत्येक) हो जाने का अनुमान है. जबकि जूट / मेस्टा उत्पादन पिछले साल के 98 लाख गांठ (एक गांठ- 180 किग्रा) के स्तर पर ही बने रहने की उम्मीद है. खाद्यान्न उत्पादन के अंतिम अनुमान से पहले मंत्रालय, चार अग्रिम अनुमान जारी करता है.

ये भी पढ़ें: रोज 150 रु के निवेश से बन जाएगा 25 लाख का फंड, जानिए छोटी बचत का बड़ा फायदा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 19, 2020, 11:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading