गोवा समेत इन इलाकों में आज होगी भारी बारिश! मानसून ने पकड़ ली है रफ्तार

भारतीय मौसम विभाग ने मानसून के गोवा में दस्तक देने का अनुमान जताया है. वहीं, अगले एक हफ्ते में इसके छत्तीसगढ़, ओडिशा, बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश तक पहुंचने की उम्मीद है. दिल्ली में अभी और बढ़ेगी गर्मी.

News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 5:05 AM IST
गोवा समेत इन इलाकों में आज होगी भारी बारिश! मानसून ने पकड़ ली है रफ्तार
मौसम विभाग ने आज गोवा समेत कई इलाकों में भारी बारिश की उम्मीद जताई है.
News18Hindi
Updated: June 21, 2019, 5:05 AM IST
भारतीय मौसम विभाग ने मानसून के गोवा में दस्तक देने का अनुमान जताया है. वहीं, 4-5 दिन बाद इसके छत्तीसगढ़, ओडिशा, बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश में पहुंचने की उम्मीद है. मौसम विभाग के ताजा बुलेटिन में बताया गया है कि सूखे से जूझ रहे महाराष्ट्र के कई हिस्सों में मानसून की बारिश शुरू हो गई है. अगले 2-3 दिन में यह पूरे महाराष्ट्र को कवर लेगा.

आपको बता दें कि मानसून ने दक्षिणी राज्य केरल में 7 जून को प्रवेश किया था. आमतौर पर ये 1 जून तक केरल में आ जाता है. दिल्ली में इस बार मानसून के देर से पहुंचने का अनुमान है. वैसे आमतौर पर 29 जून तक दिल्ली-एनसीआर में मानसून की बारिश शुरू हो जाती है. लेकिन इस बार इसके 7 जुलाई तक पहुंचने की उम्मीद है.

दिल्ली में अभी बढ़ेगा तापमान
मौसम विभाग का कहना है कि दिल्ली और उसके आस-पास के इलाकों में अगले 5-6 दिन बारिश होने का अनुमान नहीं है. ऐसे में तापमान फिर से बढ़ेगा. यह 40 डिग्री सेल्सियस या अधिकतम 41 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है.

India Weather Forecast IMD Monsoon Rainfall Arrival Goa- शुक्रवार को गोवा समेत इन इलाकों में भारी बारिश की उम्मीद
(सांकेतिक तस्वीर)


ये भी पढ़ें-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की Gold पॉलिसी पर अहम बैठक कल, आम आदमी पर होगा इसका सीधा असर!

अब तेजी से बढ़ रहा है मानसून
Loading...

मौजूदा परिस्थितियां मानसून को आगे बढ़ाने में मदद कर रही हैं. अगले 72 घंटे में मानसून और रफ्तार पकड़ेगा. इसके बिहार, झारखंड और ओडिशा में तेज बारिश का अनुमान है. वहीं, मौसम विभाग ने कहा है कि केरल, कर्नाटक के तटीय इलाकों समेत गोवा और कोंकण में आज भारी बारिश हो सकती है.

(सांकेतिक तस्वीर)


इस साल औसत बारिश की भविष्यवाणी
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आइएमडी) ने इस साल औसत बारिश की भविष्यवाणी की है. वहीं, मौसम का हाल बताने वाली देश की इकलौती प्राइवेट एजेंसी स्काईमेट ने औसत से कम बारिश का अनुमान जताया है. आइएमडी के मुताबिक सामान्य या औसत मानसून से मतलब जून से सितंबर के चार महीने के दौरान पिछले 50 साल के औसत 89 सेंटीमीटर (35 इंच) बारिश का 96 और 104 फीसदी के बीच बरसात होना होता है. 90 फीसदी से कम बारिश को कम बरसात की श्रेणी में रखा गया है, जो सूखे जैसी स्थिति के समान होता है. 2018 में देश में औसत से नौ फीसदी कम बरसात हुई थी. कुछ क्षेत्रों में तो यह कमी 37 फीसदी तक दर्ज की गई थी.

ये भी पढ़ें: बजट में नौकरी करने वालों को मिल सकती है बड़ी खुशखबरी!

आम बजट 2019 की सही और सटीक खबरों के लिए न्यूज18 हिंदी पर आएं. वीडियो और खबरों  के लिए यहां क्लिक करें
First published: June 21, 2019, 5:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...