सेना की कैंटीन पर कोरोना की मार! बिक्री 50 फीसदी घटी, मांग लौटने में लग सकते हैं 6 महीने

सेना की कैंटीन पर कोरोना की मार! बिक्री 50 फीसदी घटी, मांग लौटने में लग सकते हैं 6 महीने
देशभर की आर्मी कैंटीन में रोज आने वले उपभोक्‍ताओं की संख्‍या 50 फीसदी घट गई है.

कोरोना वायरस के कारण लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से सेना की कैंटीनों (Army Canteens) में घटी मांग को देखते हुए रोजमर्रा की जरूरतों की चीजों (FMCG) और कंज्‍यूमर ड्यूरेबल्‍स (Consumer Durable) की आपूर्ति करने वाली कंपनियों से खरीदारी भी घटा दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 4:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus in India) के फैलने की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) के कारण तमाम कारोबारी गतिविधियां ठप पड़ गईं. इसका असर सेना की कैंटीनों (CSD) पर भी पड़ा है. अनलॉक (Unlock) की प्रक्रिया शुरू होने के बाद भी कंटेनमेंट जोन (Containment Zones) में मौजूद सेना की कैंटीनों में बिक्री तेजी से गिरी है. ज्‍यादातर लोग खाने-पीने और साफ-सफाई की चीजें खरीदने के लिए ही सीएसडी पहुंच रहे हैं. कहा जा रहा है कि उपभोक्‍ता बहुत सतर्क होकर पैसे खर्च कर रहे हैं.

सीएसडी ने शुरू कर दी है मोबाइल ट्रक्‍स सुविधा
मौजूदा समय में सेना की कैंटीन में रोज आने वाले उपभोक्‍ताओं (Consumers) की संख्‍या 50 फीसदी के करीब घट गई है. इसे देखते हुए तमाम सीएसडी में मोबाइल ट्रक्‍स (Mobile Trucks) की सुविधा शुरू की गई है ताकि लोगों के दरवाजे पर पहुंचकर रोजमर्रा के सामान (FMCG) और कंज्‍यूमर ड्यूरेबल्‍स (Consumer Durable) की बिक्री की जा सके. एफएमसीजी और कंज्‍यूमर ड्यूरेबल कंपनियों का मानना है कि मांग को कोरोना संकट के पहले की स्थिति में पहुंचने में करीब 6 महीने यानी दो तिमाही का समय लग जाएगा.

ये भी पढ़ें- RBI ने धोखाधड़ी को लेकर किया आगाह! सतर्क रहें वरना बैंक खाता हो जाएगा जीरो
सीएसडी को नहीं मिली ऑनलाइन ऑर्डर सुविधा


सेना की कैंटीनों के लिए अभी तक ऑनलाइन ऑर्डर की सुविधा शुरू नहीं की गई है. आसान शब्‍दों में समझें तो आर्मी कैंटीन के कार्डहोल्‍डर्स कोई भी सामान ऑनलाइन ऑर्डर कर होम डिलीवरी नहीं करा सकते हैं. इस तरह की सुविधा शुरू करने की अभी तक आर्मी कैंटीन को अनुमति नहीं दी गई है. बता दें कि देशभर में सीएसडी के 34 से ज्‍यादा डिपो हैं. देशभर में सेना की 4,000 यूनिट कैंटीन चलाती हैं. एफएमसीजी इंडस्‍ट्री की 5 से 7 फीसदी बिक्री सीएसडी के जरिये ही होती है. इस समय सीएसडी के 1.2 करोड़ सक्रिय सदस्‍य और 5.5 करोड़ कार्ड होल्‍डर्स हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज