Home /News /business /

indian bank raises mclr rates by 0 15 pc across tenors nodvkj

इंडियन बैंक से लोन लेना होगा महंगा, MCLR को 0.15 फीसदी बढ़ाया

इंडियन बैंक

इंडियन बैंक

ज्यादातर कंज्यूमर लोन एक साल के मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट के आधार पर होती है. ऐसे में एक साल के एमसीएलआर में बढ़ोतरी से पर्सनल लोन, ऑटो और होम लोन महंगे हो सकते हैं.

नई दिल्ली. पब्लिक सेक्टर के इंडियन बैंक (Indian Bank) ने अपने ग्राहकों को जोरदार झटका दिया है. अब बैंक से लोन लेना महंगा हो जाएगा. दरअसल, बैंक ने कहा कि उसने रविवार से मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट यानी एमसीएलआर (MCLR) में 0.15 फीसदी की बढ़ोतरी की है.

एक साल की अवधि की बेंचमार्क एमसीएलआर को 7.40 फीसदी से बढ़ाकर 7.55 प्रतिशत किया गया है। ज्यादातर उपभोक्ता ऋण की ब्याज दरें इसी के आधार पर तय होती हैं. रेगुलेटरी फाइलिंग में बैंक ने बताया है कि एक दिन से लेकर 6 महीने की अवधि के लोन पर भी एमसीएलआर को इसी अनुपात में बढ़ाकर 6.75 से 7.40 फीसदी किया गया है.

ये भी पढ़ें- ट्रिपल A रेटिंग वाली NBFC ने फिर बढ़ाया फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर ब्‍याज, कल से लागू होगी नई दर

बढ़ जाएगी आपकी ईएमआई
एमसीएलआर में बढ़ोतरी के साथ टर्म लोन पर ईएमआई बढ़ने की उम्मीद है. ज्यादातर कंज्यूमर लोन मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट के आधार पर होती है. ऐसे में एमसीएलआर में बढ़ोतरी से पर्सनल लोन, ऑटो और होम लोन महंगे हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें- RBI report: मार्च 2023 तक बैंकों का फंसा हुआ कर्ज कम होगा, पर स्थिति बिगड़ी तो एनपीए भी बिगड़ जाएगा, समझिए कैसे?

क्या होता है MCLR?
गौरतलब है कि एमसीएलआर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा विकसित की गई एक पद्धति है जिसके आधार पर बैंक लोन के लिए ब्याज दर निर्धारित करते हैं. आरबीआई ने 1 अप्रैल 2016 से देश में एमसीएलआर की शुरुआत की थी. उससे पहले सभी बैंक बेस रेट के आधार पर ही ग्राहकों के लिए ब्याज दर तय करते थे. आधार दर की जगह पर अप्रैल 2016 से बैंक एमसीएलआर का इस्तेमाल कर रहे हैं. अब बैंकों द्वारा एमसीएलआर में किसी भी बढ़ोतरी या कटौती का असर नए और मौजूदा लेनदारों पर भी पड़ता है.

Tags: Indian bank, Loan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर