Home /News /business /

महामारी में 10 सबसे अमीर लोगों की दौलत इतनी बढ़ी कि 25 साल तक Free में पढ़ सकता है देश का हर बच्चा

महामारी में 10 सबसे अमीर लोगों की दौलत इतनी बढ़ी कि 25 साल तक Free में पढ़ सकता है देश का हर बच्चा

देश के 142 अरबपतियों के पास कुल 719 अरब डॉलर की संपत्ति है

देश के 142 अरबपतियों के पास कुल 719 अरब डॉलर की संपत्ति है

Indian Billionaire Wealth Free Education : महामारी में भारत के 10 सबसे अमीर लोगों की दौलत में इतना इजाफा हुआ है कि वे 25 वर्षों तक देश के सभी स्कूल और कॉलेजों को फंड कर सकते हैं.

नई दिल्ली. महामारी की वजह से जहां गरीबों को खाने तक के लाले पड़ गए, वहीं अमीरों की दौलत बेतहाशा बढ़ गई. संकट के इस दौर में भारतीय अरबपतियों (Indian Billionaires) की दौलत में दोगुना इजाफा हुआ है. इस दौरान अमीरों की संख्या भी 39 फीसदी बढ़कर 142 पहुंच गई. वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ( World Economic Forum 2022) के पहले दिन ऑक्सफैम इंडिया (Oxfam India) की ओर जारी रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के 10 सबसे अमीर लोगों की दौलत में इतना इजाफा हुआ है कि वे 25 वर्षों तक देश के सभी स्कूल और कॉलेजों को फंड कर सकते हैं. यानी देश का हर बच्चा 25 साल तक फ्री में पढ़ाई कर सकेगा.

वार्षिक असमानता सर्वेक्षण (annual inequality survey) रिपोर्ट में कहा गया है कि देश के 142 अरबपतियों के पास कुल 719 अरब डॉलर (53 लाख करोड़ रुपये) की संपत्ति है. 98 सबसे अमीर लोगों के पास 657 अरब डॉलर (49 लाख करोड़ रुपये) की दौलत है, जो 55.5 करोड़ गरीबों की कमाई के बराबर है.

ये भी पढ़ें- Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वालों को झटका देने की तैयारी, सरकार लगा सकती है टैक्स, जानें डिटेल

अमीरों के पास सरकार के बजट का 41 फीसदी पैसा
महामारी के कारण असमानता इतनी बढ़ गई है कि 10 सबसे अमीर लोगों के पास देश की 45 फीसदी दौलत है. वहीं, 50 फीसदी गरीब आबादी के पास महज 6 फीसदी संपत्ति है. इसके अलावा, देश के 98 सबसे अमीर परिवारों की कुल दौलत भारत सरकार के कुल बजट का करीब 41 फीसदी है.

…तो 271 फीसदी बढ़ सकता है सरकार का हेल्थ बजट
रिपोर्ट के मुताबिक, अगर भारत के टॉप-100 अरबपतियों की दौलत मिला दी जाए तो इससे नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन को पूरा किया जा सकता है. महिलाओं के लिए 365 वर्षों तक सेल्फ हेल्प ग्रुप का गठन किया जा सकता है. 98 सबसे अमीर लोगों पर केवल चार फीसदी वेल्थ टैक्स लगाने पर हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर मिनिस्ट्री को अगले दो वर्षों तक फंड मिल सकता है. करोड़पतियों और अरबपतियों पर अगर वेल्थ टैक्स लगाया जाए तो 78.3 अरब डॉलर जुटाया जा सकता है. इस पैसे से सरकार का हेल्थ बजट 271 फीसदी बढ़ सकता है.

ये भी पढ़ें- Personal Finance: पहली बार लेने जा रहे पर्सनल लोन तो इन बातों का रखें ख्याल, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

…इनकी दौलत के क्या हैं मायने
-ऑक्सफैम की रिपोर्ट में कहा गया कि भारत के टॉप-10 फीसदी अमीर लोगों पर अगर एक फीसदी एडिशनल टैक्स लगाया जाए तो उस पैसे से देश को 17.7 लाख अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलिंडर मिल जाएंगे.
-देश के 98 अमीर परिवारों पर अगर एक फीसदी अतिरिक्त टैक्स लगाने से आयुष्मान भारत प्रोग्राम को सात वर्षों तक पैसों की जरूरत नहीं पड़ेगी.
-आयुष्मान भारत दुनिया का सबसे बड़ा हेल्थ इंश्योरेंस प्रोग्राम है.
-अगर देश के टॉप-10 अमीर रोजाना 10 लाख डॉलर यानी 7 करोड़ रुपये खर्च करें तो उनकी दौलत खत्म होने में 84 साल लग जाएंगे.

ये भी पढ़ें- Car sales : विदेश में भी खूब बिक रहे भारत में बने वाहन, जानें किस कंपनी की कार की सबसे ज्यादा रही डिमांड

कोरोना काल में बिगड़ी महिलाओं की स्थिति
महामारी में महिलाओं की स्थिति बिगड़ी है. इस दौरान 28 फीसदी महिलाओं को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा. उनकी कुल कमाई दो तिहाई घट गई है. महिलाओं की स्थिति को लेकर कहा गया कि सरकार मिनिस्ट्री ऑफ वीमन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट पर सिर्फ उतना ही खर्च करती है, जो देश के 10 सबसे कम संपत्ति वाले अरबपतियों की कुल संपत्ति का आधा भी नहीं है.

Tags: Billionaires, Corona cases in india, Indian economy, World Richest Person

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर