• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • इंश्योरेंस खरीदने के लिए कर रहे हैं लाखों रुपए खर्च तो रुक जाएं, इन 5 चीजों के साथ फ्री मिलते हैं ये 5 इंश्योरेंस कवर

इंश्योरेंस खरीदने के लिए कर रहे हैं लाखों रुपए खर्च तो रुक जाएं, इन 5 चीजों के साथ फ्री मिलते हैं ये 5 इंश्योरेंस कवर

करोड़ों पॉलिसीधारकों को झटका! इस वजह से लगभग डबल हो सकता है इश्योरेंस प्रीमियम

करोड़ों पॉलिसीधारकों को झटका! इस वजह से लगभग डबल हो सकता है इश्योरेंस प्रीमियम

वैसे तो लाइफ इंश्योरेंस या हेल्थ इंश्योरेंस का फायदा लेने के लिए वक्त पर पैसे चुकाने पड़ते हैं लेकिन कुछ चीजें या यूं कहें कुछ सर्विस के साथ आपको फ्री में जीवन या स्वास्थ्य बीमा मिलता है. आइए आपको बताते हैं कि कहां आपको मिलता है फ्री इंश्योरेंस कवर.

  • Share this:
    नई दिल्ली. आज के दौर में इंश्योरेंस कराना हर किसी की जरूरत हो गयी है. जिंदगी में कब क्या हो जाए इसके बारे में कोई नहीं जानता. कोई बीमार हो जाए तो हॉस्पिटल का खर्च इतना बढ़ जाता है उसको चुकाने में पूरे परिवार की जमा पूंजी लग जाती है. इसलिए जरूरी है की हर किसी के पास इंश्योरेंस हों. फिर चाहे वह जीवन बीमा हो या स्वास्थ्य ​बीमा. वैसे तो लाइफ इंश्योरेंस या हेल्थ इंश्योरेंस का फायदा लेने के लिए वक्त पर पैसे चुकाने पड़ते हैं लेकिन कुछ चीजें या यूं कहें कुछ सर्विस के साथ आपको फ्री में जीवन या स्वास्थ्य बीमा मिलता है. आइए आपको बताते हैं कि कहां आपको मिलता है फ्री इंश्योरेंस कवर:-

    LPG कनेक्शन
    गैस सिलिंडर के साथ ग्राहक को पर्सनल एक्सीडेंट कवर मिलता है. 50 लाख रुपये तक का यह इंश्योरेंस एलपीजी सिलेंडर से गैस लीकेज या ब्लास्ट के चलते दुर्भाग्यवश हादसा होने की स्थिति में आर्थिक मदद के तौर पर है. इसमें रसोई गैस सिलिंडर की वजह से हुए हादसे में जान और माल का नुकसान दोनों कवर होता है. इसके लिए ग्राहक को किसी प्रीमियम का भुगतान नहीं करना होता है. ग्राहक के घर पर LPG हादसा होने पर प्रॉपर्टी/घर को नुकसान पहुंचता है तो प्रति एक्सीडेंट 2 लाख रुपये, हादसे में मौत होने पर प्रति एक्सीडेंट प्रति व्यक्ति 6 लाख रुपये और घायल होने पर मेडिकल खर्च के लिए प्रति एक्सीडेंट 30 लाख रुपये का मुआवजा मिलता है, जो प्रति व्यक्ति 2 लाख रुपये तक होता है. साथ ही प्रति व्यक्ति 25000 रुपये तक की तुरंत राहत सहायता भी है.

    क्रेडिट-डेबिट कार्ड
    अलग-अलग क्रेडिट टाइप के आधार पर क्रेडिट कार्ड लिमिट और सर्विस प्रोवाइडर के ऑफर को ध्यान में रखते हुए क्रेडिट कार्ड पर इंश्योरेंस कवर मिलता है. आमतौर पर भारत में क्रेडिट कार्ड कंपनियां 50 लाख तक का कॉमप्लिमेंट्री इंश्योरेंस ऑफर करती है. लेकिन इसके लिए क्रेडिट कार्ड का चालू रहना जारी है. इसी तरह कई बैंक डेबिट कार्ड पर भी इंश्योरेंस कवर रहता है. अलग-अलग तरह के इंश्योरेंस कवर में पर्सनल एक्सिडेंट कवर, पर्चेज प्रोटेक्शन कवर और पर्मानेंट डिसएबिलिटी कवर आदि शामिल है. यह कवर 10 लाख रुपये तक का है.

    जनधन अकाउंट के साथ बीमा
    जनधन योजना के तहत खुले बैंक खाते के साथ मिलने वाले रूपे डेबिट कार्ड पर 30 हजार रुपये का जीवन बीमा और दो लाख रुपये का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा कवर मिलता है. जीवन बीमा अमाउंट का भुगतान खाताधारक की मृत्यु के बाद उसके परिवार को होता है. वहीं दुर्घटना बीमा का क्लेम तभी मिलेगा जब रूपे कार्डधारक ने किसी भी बैंक शाखा, बैंक मित्र, एटीएम, पीओएस, ई-कॉम आदि चैनल पर कम से कम एक सफल वित्तीय अथवा गैर- वित्तीय लेनदेन या तो अपने स्वयं के बैंक (उसी बैंक चैनल पर लेनदेन करने वाले बैंक ग्राहक/रुपे कार्ड धारक) और/अथवा किसी दूसरे बैंक (अन्य बैंक चैनल पर लेनदेन करने वाले बैंक ग्राहक/रूपे कार्डधारक) के माध्यम से दुर्घटना की तारीख से पूर्व 90 दिन के भीतर किया हो.

    मोबाइल रिचार्ज
    एयरटेल अपने कुछ प्रीपेड रिचार्ज के साथ टर्म लाइफ इंश्योरेंस देती है. उदाहरण के तौर पर 279 और 179 रुपये वाला प्लान. 279 रुपये वाले प्लान पर अन्य बेनिफिट्स के साथ 4 लाख रुपये का टर्म लाइफ इंश्योरेंस मिल रहा है. वहीं 179 रुपये वाले प्रीपेड रिचार्ज पर 2 लाख का लाइफ इंश्योरेंस है. फायदा लेने के लिए रिचार्ज कराने के बाद ग्राहक को SMS, एयरटेल थैंक्स ऐप या एयरटेल के अधिकृत रिटेल स्टोर के जरिए खुद को इनरॉल करना होगा.

    PF पर इंश्योरेंस
    कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) अपने सब्सक्राइबर्स/मेंबर इंप्लॉइज को जीवन बीमा की सुविधा भी देता है. EPFO के सभी सब्सक्राइबर इंश्योरेंस स्कीम 1976 (EDLI) के ​तहत कवर होते हैं. इंश्योरेंस कवर की धनराशि EPFO मेंबर इंप्लॉई के वेतन का 20 गुना है, जो कि मैक्सिमम 6 लाख रुपये तक है. EDLI (इंप्लॉइज डिपॉजिट लिंक्ड इंश्योरेंस) स्कीम का क्लेम मेंबर इंप्लॉई के नॉमिनी की ओर से इंप्लॉई की बीमारी, दुर्घटना या स्वाभाविक मृत्यु होने पर किया जा सकता है. इसमें एकमुश्त भुगतान होता है. EDLI में इंप्लॉई को कोई रकम नहीं देनी होती है. EDLI का फायदा अब उन कर्मचारियों के पीड़ित परिवार को भी मिलेगा, जिसने मृत्यु से ठीक पहले 12 महीनों के अंदर एक से अधिक प्रतिष्ठानों में नौकरी की हो.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज