Home /News /business /

Indian Currency: किस नोट को छापने में कितना खर्चा आता है, जानिए RBI ने पहली बार कौन सी नोट छापी थी?

Indian Currency: किस नोट को छापने में कितना खर्चा आता है, जानिए RBI ने पहली बार कौन सी नोट छापी थी?

 भारत में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पास करेंसी जारी करने का अधिकार है.

भारत में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पास करेंसी जारी करने का अधिकार है.

भारत में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पास करेंसी जारी करने का अधिकार है. देश में मौजूदा समय में 2000, 500, 200, 100, 50, 20, 10, 5, 2 और 1 रुपये के नोट चलन में हैं. जानिए किस नोट को छापने में कितना खर्चा आता है.

    Indian Currency: लगभग सभी लोगों के पास रंग बिरंगे नोट होते हैं. लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि इन नोटों को छापने में कितना खर्चा आता है. क्या आपकी जेब में भी 100, 50, 500, 2000 रुपये के रंग बिरंगे नोट हैं? आप जानते हैं इनकी छपाई में कितने रुपये खर्च होते हैं? तो आईए आज बात करते हैं नोटों को कौन जारी करता, कौन छापता है, कितनी नोट छापी जाती है और इसका खर्चा कितना आता है?

    भारत में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पास करेंसी जारी करने का अधिकार है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, RBI नोट छापने के लिए मिनिमम रिजर्व सिस्टम नियम का पालन करता है. यह नियम साल 1956 में बना था. रिजर्व बैंक को करेंसी नोट प्रिंटिंग के विरुद्ध न्यूनतम 200 करोड़ रुपये का रिजर्व हमेशा रखना पड़ता है. इसमें 115 करोड़ रुपये गोल्ड और 85 करोड़ रुपये की विदेशी करेंसी रखनी जरूरी होती है.

    यह भी पढ़ें- Income Tax Return भरने के लिए बढ़ी हुई लास्ट डेट का इंतजार क्यों नुकसानदायक है, जानिए डिटेल

    देश में मौजूदा समय में 2000, 500, 200, 100, 50, 20, 10, 5, 2 और 1 रुपये के नोट चलन में हैं. एक हजार के नोट 2016 में हुई नोटबंदी के बाद चलन से बाहर हो गए थे.

    5 रुपये का पहला नोट छपा था 
    रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की स्थापना 1 अप्रैल, 1935 को हुई थी. यानी की आजादी के पहले ही इसकी स्थापना हो चुकी थी. स्थापना के तीन साल बाद साल 1938 में जनवरी महीने में RBI ने पहली बार 5 रुपये का करेंसी नोट जारी किया था. इस नोट पर किंग जॉर्ज VI की तस्वीर प्रिंट हुई थी. मतलब आजादी से 9 साल पहले रिजर्व बैंक ने अपनी पहली करेंसी जारी की थी. इसके बाद 10 रुपये के नोट, मार्च में 100 रुपये के नोट और जून में 1,000 रुपये और 10,000 रुपये के करेंसी नोट जारी किए थे.

    किस नोट को छापने में कितने रुपये होते हैं खर्च 
    रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया हर नोट छापने में अलग-अलग लागत आती है. 200 रुपये के नोट छापने में RBI को 2.93 रुपये प्रति नोट खर्च करने पडते हैं. 200 रुपये के नोट पर सांची का स्तूप की तस्वीर छपी होती है. इसी तरह 500 रुपये के नोट को छापने में 2.94 रुपये प्रति नोट खर्च होते हैं. इस नोट पर लाल किला की तस्वीर छपी होती है.

    ऐसे ही 2000 रुपये के नोट की छपाई की लागत 3.54 रुपये प्रति नोट आती है. यह देश का सबसे बड़ा नोट है. इस पर मंगलयान की तस्वीर छपी है. इसे नोटबंदी के बाद RBI ने जारी किया था. इस नोट के पहले 1000 रुपये का नोट था, जिसे नोटबंदी के दौरान बंद कर दिया गया था.

    Tags: Currency, Currency in circulation, Gold, Indian currency, New blockchain technology-based currency Petro, RBI

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर