• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के लिए बुरी खबर! एशियन डेवलपमेंट बैंक ने आर्थिक वृद्धि का अनुमान घटाकर किया 10 फीसदी

भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के लिए बुरी खबर! एशियन डेवलपमेंट बैंक ने आर्थिक वृद्धि का अनुमान घटाकर किया 10 फीसदी

ADB ने इंडियन इकोनॉमी की ग्रोथ का अनुमान घटा दिया है.

कोरोना वायरस महामारी पर काबू पाने के लिए लगाए गए लॉकडाउन से देश की अर्थव्‍यवस्‍था (Indian Economy) को नुकसान हुआ है. एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB) ने साल 2021 की शुरुआत में इकोनॉमिक ग्रोथ (Economic Growth) के लिए 11 फीसदी का अनुमान लगाया था.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB) ने वित्‍त वर्ष 2021-22 में देश की आर्थिक वृद्धि (Economic Growth) का अनुमान घटाकर 10 फीसदी कर दिया है. इसका कारण कोरोना वायरस के कारण हुए बड़े नुकसान को बताया है. एडीबी ने साल 2021 की शुरुआत में 11 फीसदी वृद्धि का अनुमान जताया था. साथ ही एडीबी ने बताया कि वित्‍त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ (GDP Growth) 1.6 फीसदी की रही. इससे पूरे वित्‍त वर्ष के लिए आर्थिक वृद्धि में कमी पहले के 8 फीसदी से घटकर 7.3 फीसदी रह गई. कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ज्‍यादातर राज्यों ने लॉकडाउन या कर्फ्यू जैसे सख्‍त कदम उठाए थे. इससे देश की अर्थव्‍यवस्‍था (Indian Economy) को काफी नुकसान हुआ. हालांकि, जून 2021 में लॉकडाउन खुलने के बाद से कारोबारी गतिविधियों में तेजी दर्ज की जा रही है.

    वैक्‍सीनेशन की रफ्तार बढ़ने पर होगी तेज इकोनॉमिक रिकवरी
    दक्षिण एशिया पर एडीबी ने कहा कि मार्च से जून 2021 के बीच कोरोना वायरस के फैलने से आर्थिक संभावनाओं को झटका लगा है. हालांकि, एक साल पहले के मुकाबले इससे निपटने के लिए कारोबार और उपभोक्ता बेहतर स्थिति में हैं. इस क्षेत्र के लिए पिछले वित्‍त वर्ष के दौरान इकोनॉमिक ग्रोथ का अनुमान 9.5 फीसदी से घटाकर 8.9 फीसदी किया गया है. हालांकि, मौजूदा वित्‍त वर्ष के लिए यह 6.6 फीसदी से बढ़ाकर 7 फीसदी हुआ है. इस क्षेत्र में वैक्सीनेशन की गति बढ़ने से इकोनॉमिक ग्रोथ में तेज रिकवरी हो सकती है. इसकी दर वैश्विक औसत से अधिक है, लेकिन अमेरिका और यूरोप के मुकाबले काफी कम है.

    ये भी पढ़ें - PM नरेंद्र मोदी के 'मन की बात' से हुई 30 करोड़ रुपये से ज्‍यादा की कमाई, जानें कब हुई सबसे ज्‍यादा आमदनी

    'रिजर्व बैंक के लिए वृद्धि अनुमान घटाने का कोई कारण नहीं'
    रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने मौजूदा वित्‍त वर्ष में देश की जीडीपी में 10.5 फीसदी की वृद्धि का अनुमान दिया है. आरबीआई की मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी ने अप्रैल में पॉलिसी की घोषणा के दौरान यह अनुमान जताया था. पिछले महीने केंद्रीय बैंक ने मौजूदा वित्‍त वर्ष के लिए जीडीपी ग्रोथ का अनुमान 10.5 फीसदी से घटाकर 9.5 फीसदी किया था. रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने हाल में कहा था कि आरबीआई के लिए आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटाने का कोई कारण नहीं है. दास ने पिछले महीने घोषणा की थी कि मार्केट को सपोर्ट देने के लिए आरबीआई की ओर से G-SAP 2.0 के तहत दूसरी तिमाही में 1.2 लाख करोड़ रुपये की गवर्नमेंट सिक्योरिटीज की ओपन मार्केट से खरीदारी की जाएगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज