अपना शहर चुनें

States

IMF के मुख्य प्रवक्ता बोले- धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है भारत की इकोनॉमी

वाशिंगटन स्थित आईएमएफ मुख्यालय (फोटो क्रेडिट- Reuters)
वाशिंगटन स्थित आईएमएफ मुख्यालय (फोटो क्रेडिट- Reuters)

आईएमएफ (IMF) ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस (Coronavrus) से बुरी तरीके से प्रभावित भारत की इकोनॉमी (Indian Economy) धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है.

  • Share this:
वाशिंगटन. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) से बुरी तरीके से प्रभावित भारत की इकोनॉमी (Indian Economy) धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है.

सितंबर तिमाही में उम्मीद से बेहतर सुधार 
भारत की इकोनॉमी में सितंबर तिमाही में उम्मीद से बेहतर सुधार हुआ. मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र के बेहतर प्रदर्शन के कारण जीडीपी (GDP) में गिरावट केवल 7.5 प्रतिशत रही. साथ ही बेहतर उपभोक्ता मांग से इसमें आगे और सुधार की उम्मीद है. इससे पहले, चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही अप्रैल-जून में अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की गिरावट आई थी.

ये भी पढ़ें- खुशखबरी! अब WhatsApp पर मिलेगी PNR status, ट्रेन की लाइव लोकेशन सहित सभी जरूरी जानकारी, इस नंबर पर करें मैसेज
धीरे-धीरे संकट से उबर रहा है भारत


आईएमएफ के मुख्य प्रवक्ता गेरी राइस ने कहा, ''वास्तव में भारत महामारी से बुरी तरीके से प्रभावित हुआ लेकिन धीरे-धीरे संकट से उबर रहा है.'' कोविड-19 महामारी के दौरान भारत की इकोनॉमी के आकलन से जुड़े सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि राजकोषीय, मौद्रिक और वित्तीय क्षेत्र के लिए किए गए उपायों से कंपनियों, कृषि और वंचित परिवार समेत इकोनॉमी को जरूरी सहायता मिली.

राइस ने कहा, ''वृद्धि को आगे और समर्थन देने के लिये, हमें भरोसा है कि भारतीय प्राधिकरण मौजूदा समर्थनकारी उपायों का क्रियान्वयन सुचारू रूप से करेंगे और जरूरत पड़ने पर उसका दायरा बढ़ाने पर भी गौर करेंगे.''



ये भी पढ़ें- पोस्ट ऑफिस में है अकाउंट तो 11 दिसंबर से पहले पूरा कर लें ये काम, नहीं तो बंद हो सकता है खाता!

इकोनॉमी में V शेप सुधार
इससे पहले, आईएमएफ की मंत्री स्तरीय समिति अंतरराष्ट्रीय मौद्रिक और वित्तीय समिति (आईएमएफसी) को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए संबोधित करते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि कई महत्वपूर्ण आंकड़ों (पीएमआई, बिजली खपत, माल ढुलाई आदि) से इकोनॉमी में तीव्र गति से (वी शेप में) सुधार का पता चलता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज