वर्ल्‍ड बैंक को भारत पर भरोसा, 2018-19 में भारत की GDP ग्रोथ 7.3% रहेगी

वर्ल्‍ड बैंक ने अनुमान जताया है कि 2018-19 में भारत की जीडीपी ग्रोथ 7.3 फीसदी और 2019-20 में 7.5 फीसदी रह सकती है

Amit Kumar | News18Hindi
Updated: March 14, 2018, 6:11 PM IST
वर्ल्‍ड बैंक को भारत पर भरोसा, 2018-19 में भारत की GDP ग्रोथ  7.3% रहेगी
वर्ल्‍ड बैंक ने अनुमान जताया है कि 2018-19 में भारत की जीडीपी ग्रोथ 7.3 फीसदी और 2019-20 में 7.5 फीसदी रह सकती है
Amit Kumar
Amit Kumar | News18Hindi
Updated: March 14, 2018, 6:11 PM IST
वर्ल्‍ड बैंक ने भारत पर भरोसा जताते हुए कहा कि वित्त वर्ष 2018-19 में भारत की जीडीपी ग्रोथ 7.3 फीसदी रहेगी. साथ ही, वित्त वर्ष 2019-20 में भारत की अर्थव्‍यवस्‍था 7.5 फीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान है. आपको बता दें कि मौजूदा वित्त वर्ष 2017-18 की तीसरी तिमाही में देश की जीडीपी ग्रोथ रेट बढ़कर 7.2 फीसदी हो गई थी. भारत, चीन को पीछे छोड़कर दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्‍यवस्‍था बन गई. दिसंबर तिमाही में चीन की जीडीपी ग्रोथ रेट 6.8% रही थी.

वर्ल्ड बैंक का अनुमान
वर्ल्ड बैंक ने अनुमान लगाया है कि साल 2018-19 में 7.3% और 2019-20 में भार की जीडीपी ग्रोथ  7.5% ग्रोथ रह सकती है. वर्ल्ड बैंक ने ये भी दावा की दुनिया में भारत जैसे कुछ ही बड़े देश है, जिनकी ग्रोथ रेट धीरे धीरे लगातार बढ़ रही है. 70 और 80 में 4% का ग्रोथ था. 2003 से 2009 तक 8.8% था उसके बाद 2010 से 2017 तक 7.1% है. वर्ल्ड बैंक का कहना है कि पिछले पचास साल में भारत की ग्रोथ रेट काफी अच्छी रही है. धीरे धीरे भारत की अर्थव्यवस्था लगातार मजबूत हुई है. इससे पहले दो तिमाही में नोटबन्दी और जीएसटी के चलते आर्थिक ग्रोथ गिर गई थी.

नोटबंदी, GST का असर

रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था पर नोटबंदी और जीएसटी के असर रिकवर हो सकती है और इसमें धीरे-धीरे तय लक्ष्‍य के अनुरूसार रिकवरी होनी चाहिए. इस साल 7.5 फीसदी जीडीपी ग्रोथ का सरकार का अनुमान है. नवंबर 2016 में मोदी सरकार ने ब्‍लैकमनी पर अंकुश लगाने के लिए 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट का लीगल टेंडर रद्द कर दिया था. इसके बाद सरकार ने इनडायरेक्‍ट टैक्‍स रिफॉर्म किया. जिसके तहत सिंगल टैक्‍स सिस्‍टम गूड्स एंड सर्विसेज टैक्‍स (जीएसटी) लाया गया. पूरे देश में 1 जुलाई 2017 से जीएसटी लागू हो गया है. इन दोनों ही रिफॉर्म्‍स का असर शॉर्ट टर्म इकोनॉमिक गतिविधियों पर पड़ा और ग्रोथ रेट धीमी हुई. बीते जून तिमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ 5.7 फीसदी पर आ गई थी, जोकि तीन साल में सबसे कम थी.

ये भी पढ़ें:

चीन की 6.5% होगी ग्रोथ रेट, दुनिया का सबसे बड़ा मिडिल क्‍लास है यहां

 गोल्ड मार्केट को बदलने के लिए ये है सरकार का मेगा प्लान, जानिए आपको क्या होगा फायदा
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर