भारतीय अर्थव्यवस्था में उम्मीद से बेहतर रिकवरी, RBI के लिए महंगाई बनी समस्या: ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स

उम्मीद से बेहतर कर रही अर्थव्यवस्था
उम्मीद से बेहतर कर रही अर्थव्यवस्था

Oxford Economics ने भारतीय अर्थव्यवस्था में रिकवरी को लेकर कहा है कि यह उम्मीद से बेहतर है. इस बात के भी संकेत हैं कि अब ब्याज दरों में ढील का समय खत्म होने वाला है. RBI के ​लिए महंगाई समस्या खड़ी कर सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) में उम्मीद से बेहतर रिकवरी देखने को मिल रही है और संभव है कि भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ब्याज दरें घटाने के अंतिम छोर पर खड़ा हो. ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स (Oxford Economics) ने अपने वैश्विक अनुमान में भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर यह बात कही है. ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स नें कहा कि चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में मुद्रास्फिति (Inflation) औसतन 6 फीसदी के उपर ही रहने का अनुमान है. दिसंबर में होने वाली मौद्रिक नीति बैठक में आरबीआई ब्याज दरों में कोई कटौती नहीं करने का फैसला ले सकता है.

महंगाई बन रही समस्या
इस रिपोर्ट में कहा गया, 'अक्टूबर में उपभोक्ता महंगाई कोरोना काल के पहले स्तर पर रहा. ईंधन को छोड़कर लगभग सभी श्रेणियों में कीमतों में इजाफा देखने को मिला. चौ​थी तिमाही में महंगाई सबसे अधिक रह सकती है. 2021 की ट्रैजे​क्टरी को लेकर अधिक सतर्क हो गये हैं.

यह भी पढ़ें: चीन समेत 15 देशों के बीच होगा विश्व का सबसे बड़ा व्यापार समझौता, जानिए भारत क्यों नहीं है शामिल
अक्टूबर महीने में खुदरा महंगाई दर 7.61 फीसदी के साथ सब्जी, फल और अंडे का भाव करीब साढ़े छह साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है. आरबीआई के लक्ष्य के आधार पर देखें तो यह ज्यादा है. सितंबर 2020 में खुदरा महंगाई दर 7.27 फीसदी रहा था.



ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स ने कहा, 'ठीक इसी समय कई आर्थिक गतिविधियों से पता चलता है कि भारती​य अर्थव्यवस्था उम्मीद से बेहतर रिकवर कर रही है. हम उम्मीद है कि आरबीआई अब नीतिगत ब्याज दरों में ढील देने की प्रक्रिया पर ब्रेक लगाएगा.'

यह भी पढ़ें: आपको भरना है इनकम टैक्स रिटर्न! तो जानिए किन दस्तावेजों की पड़ेगी जरूरत

मूडीज ने भी  लगाया सुधार का अनुमान
बता दें कि मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारतीय जीडीपी के अनुमान को रिवाइज कर दिया है. मूडीज का कहना है कि 2020 कैलेंडर ईयर में भारत की जीडीपी में (-) 8.9 की ही गिरावट देखने को मिलेगी. एक लंबे और सख्त लॉकडाउन के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था अब सामान्य स्तर पर आ रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज