Home /News /business /

नीति आयोग के उपाध्यक्ष बोले- FY22 में 10.5 फीसदी रह सकती है इकोनॉमी की ग्रोथ रेट

नीति आयोग के उपाध्यक्ष बोले- FY22 में 10.5 फीसदी रह सकती है इकोनॉमी की ग्रोथ रेट

मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस, दोनों के लिए इंडिया परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स में पिछले महीने काफी तेजी आई है.

मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस, दोनों के लिए इंडिया परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स में पिछले महीने काफी तेजी आई है.

नीति आयोग (Niti Aayog) के उपाध्यक्ष राजीव कुमार (Rajiv Kumar) ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष में भारत की इकोनॉमी 10.5 फीसदी या उससे ज्यादा की वृद्धि दर्ज करेगी.

    नई दिल्ली. नीति आयोग (Niti Aayog) के उपाध्यक्ष राजीव कुमार (Rajiv Kumar) ने गुरुवार को कहा कि भारत की इकोनॉमी के चालू वित्त वर्ष (FY22) में 10.5 फीसदी या उससे अधिक ग्रोथ रेट हासिल करने की उम्मीद है. उन्होंने पीएएफआई इंडिया (PAFI India) के सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कहा कि रिटेल सेक्टर के आधुनिकीकरण पर खास जोर है.

    कुमार ने कहा, ”मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस, दोनों के लिए इंडिया परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (India Purchasing Managers Index) में पिछले महीने काफी तेजी आई है. इससे भारत की इकोनॉमी और भी मजबूती आएगी. मुझे उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2021-22 में भारत की इकोनॉमी की ग्रोथ रेट 10.5 फीसदी या इससे अधिक रहेगी.”

    ये भी पढ़ें- 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों को मिला दिवाली गिफ्ट, मोदी सरकार ने 3% DA बढ़ाने का किया ऐलान

    मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर में तेज वृद्धि
    चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-जून तिमाही के दौरान देश की इकोनॉमी में रिकॉर्ड 20.1 फीसदी की वृद्धि हुई. इसमें पिछले साल के कम आधार और कोविड-19 की दूसरी लहर के बाद मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर में तेज वृद्धि का योगदान रहा.

    ये भी पढ़ें- IRCTC SBI Card: फ्री में पाएं ट्रेन टिकट, रेलवे लाउंज एक्सेस की सुविधा, जानें सभी फीचर्स

    इलेक्ट्रिक बाइक और स्कूटर की ओर लोगों का रूझान
    कुमार ने एक सवाल के जवाब में कहा कि टू-व्हीलर वाहनों की बिक्री में गिरावट का कारण परंपरागत टू-व्हीलर वाहनों की जगह इलेक्ट्रिक बाइक और स्कूटर की ओर लोगों का रूझान हो सकता है.

    आरबीआई ने FY22 के लिए जीडीपी ग्रोथ रेट अनुमान 9.5 फीसदी पर रखा बरकरार
    हाल ही में आरबीआई की मॉनेटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक के बाद गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि एमपीसी की पिछली बैठक के मुकाबले इस बार भारत की स्थिति ज्यादा बेहतर है. ग्रोथ मजबूत हो रही है और महंगाई दर उम्मीद से बेहतर स्थिति में है. मॉनेटरी पॉलिसी कमिटी ने फिस्कल ईयर 2021-22 के लिए जीडीपी की ग्रोथ रेट 9.5 फीसदी पर बरकरार रखा है.

    Tags: Economy, GDP, GDP growth, Indian economy, Niti Aayog, Rajiv kumar

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर