अब बिजली की भी शुरू होगी Delivery, एक घंटे के भीतर खरीद और बेच सकेंगे

अब बिजली की भी शुरू होगी Delivery, एक घंटे के भीतर खरीद और बेच सकेंगे
बिजली कारोबार मंच इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (Indian Energy Exchange) की नई पेशकश. बिजली की मांग को तत्काल पूरा करने का बाजार आज यानी सोमवार से (रीयल टाइम मार्केट) शुरू किया. इससे बिजली कंपनियां अपनी जरूरत के अनुसार केवल एक घंटे पहले बिजली की खरीद-बिक्री कर सकेंगी.

बिजली कारोबार मंच इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (Indian Energy Exchange) की नई पेशकश. बिजली की मांग को तत्काल पूरा करने का बाजार आज यानी सोमवार से (रीयल टाइम मार्केट) शुरू किया. इससे बिजली कंपनियां अपनी जरूरत के अनुसार केवल एक घंटे पहले बिजली की खरीद-बिक्री कर सकेंगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. बिजली कारोबार मंच इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (Indian Energy Exchange) की नई पेशकश. बिजली की मांग को तत्काल पूरा करने का बाजार आज यानी सोमवार से (रीयल टाइम मार्केट) शुरू किया. इससे बिजली कंपनियां अपनी जरूरत के अनुसार केवल एक घंटे पहले बिजली की खरीद-बिक्री कर सकेंगी. इस बाजार के माध्यम से वितरण कंपनियां और निजी उपयोग के लिये ऊर्जा लेने वाले थोक ग्राहक समेत अन्य उपभोक्ता आपूर्ति से ठीक एक घंटा पहले एक्सचेंज से बिजली खरीद सकेंगे. इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (आईएक्स) ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि बिजली की तुरंत खरीद-बिक्री का यह बाजार केंद्रीय विद्युत विनियामक आयोग (सीईआरसी) के प्रयास का नतीजा है. इससे बिजली बाजार गतिशील बनेगा. इसमें आधे-आधे घंटे पर नीलामी के जरिये बिजली का कारोबार होगा.

आईएएक्स के अनुसार पूरे दिन में 48 नीलामी सत्र होंगे. बोली सत्र समाप्त होने एक घंटे के भीतर बिजली की डिलिवरी होगी. आईईएक्स लि. के मुख्य कार्यपालक अधिकारी और प्रबंध निदेशक राजीव श्रीवास्तव ने कहा कि इस आरटीएम से देश का ऊर्जा बाजार विद्युत करोबार के वैश्विक मानकों की ओर बढ़ रहा है. यह बिजली कंपनियों के लिये ग्रिड में उतार-चढ़ाव के मामले में निर्भरता में कमी लाने में मदद करेगा.

ये भी पढ़ें:- 1 June 2020: आज से बदल गई हैं राशन, गैस सिलेंडर, टैक्स और यातायात जुड़ी ये 7 जरूरी चीजें, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर



होगा ये फायदा



इस बाजार का मुख्य उद्देश्य बिजली वितरण कंपनियों को अपनी बिजली मांग को बेहतरी तरीके से प्रबंधित करने, उतार-चढ़ाव की स्थिति में जुर्माने से बचाव और नीवीकरणीय ऊर्ज के के बेहतर तरीके से एकीकरण की अनुमति देता है. श्रीवास्तव ने कहा कि इस नए बाजार से बिजली क्षेत्र में लचीलापन, प्रतिस्पर्धा और दक्षता को बढ़ावा मिलेगा और जो उभरती जरूरतें हैं, वे पूरी होंगी.

ये भी पढ़ें:- चीन ने दी भारत को धमकी! US-China कोल्ड वार से दूर रहने की दी सलाह, नहीं मानी बात तो बुरा होगा परिणाम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading