किसानों के लिए बड़ी खबर- रहस्यमयी बीजों को लेकर सरकार ने जारी की चेतावनी

कृषि मंत्रालय ने राज्यों को चेतावनी जारी की

केंद्र सरकार (Government of India) ने रहस्यमय बीजों के पैकेटस को लेकर चेतावनी जारी की है. भारत,अमेरिका, जापान के लोगों को पैकेट मिले है. पैकेट में अलग-अलग तरह के पौधों के बीज है. अधिकतर पैकेट चीन से भेजे गए है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कृषि मंत्रालय (Ministry of Agriculture) ने रहस्यम बीजों के पैकेट को लेकर सभी राज्यों को चेतावनी जारी की है दरअसल पूरे विश्व में लोगों को मिस्ट्री बीजों (Mystery Seed Packets) के पैकेट मिल रहे हैं. भारत में भी लोगों को इस तरह के पैकेट मिले हैं. कृषि मंत्रालय () के मुताबिक इन बीजों के रोपन से बायोडायवर्सिटी को खतरा हो सकता है. बताया जा रहा है कि ये बीज मौजूदा फसल को नष्ट कर सकते हैं. राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए भी ये बीज खतरा साबित हो सकते हैं. कई देशों को इस तरह के पैकेट से एग्री टेररिज्म की आशंका जताई है.

कृषि मंत्रालय ने साफ कहा है कि ‘अमेरिकी कृषि विभाग (USDA) ने इनके पैकेट पर दिए गए आंकड़ों को घोटाला (ब्रशिंग स्कैम)’’ और ‘‘कृषि तस्करी’’ करार दिया है. यूएसडीए ने यह भी बताया है कि अनचाहे बीज पार्सल में विदेशी आक्रामक प्रजाति के बीज या रोगजनकों या रोग को पेश करने का प्रयास हो सकता है, जो पर्यावरण, कृषि पारिस्थितिकी तंत्र और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा पैदा कर सकते हैं.

कृषि मंत्रालय ने राज्यों को चेतावनी जारी की- सरकार ने रहस्यमय बीजों के पैकेटस को लेकर चेतावनी जारी की है. सरकार ने साफ कहा है कि रहस्यम बीजों का पौधारोपण नहीं होने दे. पूरे विश्व में लोगों को रहस्य में बीजों के पैकेट मिल रहे हैं. भारत,अमेरिका, जापान के लोगों को पैकेट मिले है. पैकेट में अलग-अलग तरह के पौधों के बीज है. अधिकतर पैकेट चीन से भेजे गए है.

सरकार के इस निर्देश पर फेडरेशन ऑफ सीड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया के महानिदेशक राम कौंडिन्य ने एक बयान में कहा, अभी यह केवल बिना आर्डर के अनधिकृत स्रोतों से आने वाले बीजों के माध्यम से पौधों के रोगों के संभावित प्रसार के लिए एक चेतावनी है.

बीज कौन सी बीमारियां ला सकती हैं, इसकी एक सीमा है. लेकिन फिर भी, यह एक खतरा है. उन्होंने कहा कि ये बीज एक आक्रामक प्रजाति या खरपतवार हो सकते हैं, जो भारतीय वातावरण में स्थापित होने पर देशी प्रजातियों का मुकाबला या उनका विस्थापन कर सकते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.