लाइव टीवी
Elec-widget

देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस ने हर दिन कमाए ₹17.61 लाख, अक्टूबर में 70 लाख का फायदा

भाषा
Updated: November 11, 2019, 11:28 AM IST
देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस ने हर दिन कमाए ₹17.61 लाख, अक्टूबर में 70 लाख का फायदा
पहली निजी रेलगाड़ी तेजस एक्सप्रेस को पहले महीने में 70 लाख रुपए का फायदा

IRCTC को टिकट की बिक्री (Ticket Sales) से करीब 3.70 करोड़ रुपये की आय हुई. यह ट्रेन लखनऊ-दिल्ली मार्ग (Lucknow-Delhi Route) पर चलाई जा रही है.

  • भाषा
  • Last Updated: November 11, 2019, 11:28 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रेल की पहली प्राइवेट ट्रेन (India's First Private Train) तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) को अपने परिचालन के पहले महीने अक्टूबर में 70 लाख रुपये का फायदा हुआ. सूत्रों के अनुसार इस दौरान इस गाड़ी को टिकट की बिक्री (Ticket Sales) से करीब 3.70 करोड़ रुपये की आय हुई. यह ट्रेन लखनऊ-दिल्ली मार्ग (Lucknow-Delhi Route) पर चलाई जा रही है. इसका परिचालन ऑनलाइन टिकट, भोजन और पर्यटन संबंधी सुविधाएं देने वाली रेलवे की कंपनी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन यानी आईआरसीटीसी (IRCTC) कर रही है.

50 स्टेशनों को विश्वस्तरीय बनाने का लक्ष्य
सरकार ने रेलवे में सुधार के लिए 50 स्टेशनों को विश्वस्तरीय बनाने और रेलवे नेटवर्क पर 150 यात्री रेलगाड़ियों का परिचालन ठेका निजी इकाइयों को देने का लक्ष्य रखा है. तेजस एक्सप्रेस इसी योजना का हिस्सा है. यह गाड़ी अक्टूबर में 5 से 28 अक्टूबर तक 21 दिन चलाई गई. इसकी सेवा सप्ताह में छह दिन है.

रोजाना 3 करोड़ का खर्च

इस दौरान यह गाड़ी औसतन 80-85 प्रतिशत भरी सीट के साथ चली. अक्टूबर में इसके चलाने का IRCTC का खर्च करीब तीन करोड़ रुपये रहा . रेलवे की इस अनुषंगी कंपनी को इस अत्याधुनिक यात्री किराए से प्रति दिन औसतन 17.50 लाख रुपये की आमदनी हुई जबकि 14 लाख रुपये खर्च करना पड़ा. तेजस एक्सप्रेस में भोजन, 25 लाख रुपये तक का मुफ्त यात्री बीमा और विलंब पर क्षतिपूर्ति जैसी सुविधाएं हैं.

ये भी पढ़ें: 60 हजार में शुरू करें नए जमाने का ये बिजनेस, हर महीने लाखों में हो सकती है कमाई

ट्रेन लेट होने पर लाखों का चूना
Loading...

बता दें कि तेजस एक्सप्रेस 19 अक्टूबर को पहली बार 3 घंटे से ज्यादा लेट हो गई थी. दिल्ली-लखनऊ तेजस एक्सप्रेस के लेट होने से IRCTC को लाखों रुपये का चूना लग गया था. तेजस ट्रेन के लेट होने पर IRCTC यात्रियों को 1.62 लाख रुपये का मुआवजा देना पड़ा. VIP सुविधाओं से लैस इस ट्रेन की शुरुआत के दौरान ही आईआरसीटीसी ने कहा था कि अगर ये ट्रेन एक घंटे से ज्यादा लेट हुई तो कंपनी की ओर से हर्जाना दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें: 
आज ही जान लें पैन कार्ड से जुड़े ये नियम, नहीं तो लग सकता है ₹10 हजार का जुर्माना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 9:04 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...