Home /News /business /

indian market boosts this holi as people buycott chinese products and demand swadeshi dlpg

इस होली पर चीन को हुआ बड़ा नुकसान, चीनी सामान के बहिष्‍कार से बढ़ा स्‍वदेशी कारोबार

इस होली पर चीन का बड़ा नुकसान पहुंचा है.

इस होली पर चीन का बड़ा नुकसान पहुंचा है.

पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष होली के त्योहारी सीजन में देश भर के व्यापार में लगभग 30 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान है जिसके कारण देश भर में 20 हज़ार करोड़ से ज़्यादा का व्यापार हुआ. इस व्‍यापार की सबसे खास बात रही कि चीनी सामान का न केवल व्यापारियों ने बल्कि आम लोगों ने भी पूर्ण बहिष्कार किया. होली से जुड़े सामान का देश में आयात लगभग 10 हजार करोड़ का होता है जो इस बार बिल्कुल नगण्य रहा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. भारत में स्‍वदेशी अपनाने और चाइनीज सामानों के बहिष्‍कार का असर इस होली पर देखने को मिला है. पिछले दो साल से कोरोना के चलते हल्‍के पड़ रहे मार्केट में भी इस बार उछाल आया है. यही वजह है कि होलीं पर दिल्ली सहित देश भर में व्यापार में 30 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान लगाया गया है. कन्‍फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया कि इस साल देश भर में होली के त्यौहार से संबंधित सामान का 20 हज़ार करोड़ रुपए से ज्‍यादा का कारोबार हुआ है.

    कैट की ओर से बताया गया कि करोना के सारे प्रतिबंध खत्म होने के बाद इस वर्ष होली के त्यौहार से दिल्ली सहित देश भर के व्यापारियों में एक नई उमंग और उत्साह का संचार हुआ है और व्यापार के भविष्य को लेकर एक बार फिर नई आशा जगी है. पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष होली के त्योहारी सीजन में देश भर के व्यापार में लगभग 30 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान है जिसके कारण देश भर में 20 हज़ार करोड़ से ज़्यादा का व्यापार हुआ. इस व्‍यापार की सबसे खास बात रही कि चीनी सामान का न केवल व्यापारियों ने बल्कि आम लोगों ने भी पूर्ण बहिष्कार किया. होली से जुड़े सामान का देश में आयात लगभग 10 हजार करोड़ का होता है जो इस बार बिल्कुल नगण्य रहा. वहीं अब इस साल शादियों के अंतिम चरण जो अप्रैल-मई में होगा उसमें अच्छे व्यापार की उम्‍मीद भी जगी है.

    देश के सबसे बड़े व्यापारी नेता और कन्फ़ेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कोविड से राहत के प्रबंधन की तारीफ करते हुए कहा की सरकार द्वारा कोविड समस्या को बेहतरी से निपटने के कारण ही अब देश भर में कोविड प्रतिबंध समाप्त हुए हैं और व्यापार ने अब रफ़्तार पकड़नी शुरू की है जो देश की अर्थव्यवस्था की लिए एक शुभ संकेत है. इस बार होली की त्यौहारी बिक्री में चीन के बने हुए सामान का व्यापारियों और ग्राहकों ने बहिष्कार किया और केवल भारत में ही निर्मित हर्बल रंग, गुलाल, पिचकारी, ग़ुब्बारे, चंदन , पूजा सामग्री, परिधान सहित अन्य सामानों की जमकर बिक्री हुई. वहीं मिठाइयां, ड्राई फ्रूट , गिफ्ट आइटम्स, फूल एवं फल, कपड़े , फ़र्निशिंग फैब्रिक, किराना, एफएमसीजी प्रोडक्ट, कंज्यूमर ड्युरेबल्स सहित अन्य अनेकों उत्पादों का बड़ा व्यापार भी हुआ.

    खंडेलवाल ने बताया की कोविड प्रतिबंधों के कारण जहां आम व्यापार को नुकसान हुआ वहीं ख़ास तौर पर हॉस्पिटैलिटी व्यापार तो लगभग खत्म ही हो गया था लेकिन इस वर्ष कोविड प्रतिबंध समाप्त होने के बाद दिल्ली सहित देश भर में भर में बड़े पैमाने पर होली समारोहों का आयोजन हुआ जिसके चलते बैंक्वेट हाल, फार्म हाउस, होटलों , रेस्टोरेंट और सार्वजनिक पार्कों में होली समारोहों आयोजनों का तांता लगा रहा और इस सेक्टर ने दो साल के बाद अच्छा व्यापार किया. अकेले दिल्ली भर में छोटे बड़े मिलाकर 3 हज़ार से ज़्यादा होली मिलन समारोह आयोजित हुए और सभी कार्यक्रमों में शामिल लोगों को चेहरों पर एक नई ख़ुशी तथा उत्साह का वातावरण देखा गया.

    होली के उत्साह से लबरेज व्यापारियों ने अब शादी सीजन के लिए बड़ी तैयारियां शुरू कर दी है और व्यापारियों की उम्मीद है कि एक नए कोविड मुक्त वातावरण में वे बेहतर व्यापार कर पाएंगे.

    Tags: Boycott chinese products, Business, China india, Confederation of All India Traders

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर