लाइव टीवी
Elec-widget

लद्दाख में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार की नई तैयारी, स्पेशल विंटर ग्रेड डीजल की सौगात

News18Hindi
Updated: November 18, 2019, 4:11 PM IST
लद्दाख में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार की नई तैयारी, स्पेशल विंटर ग्रेड डीजल की सौगात
इण्डियन आयल कॉर्पोरेशन ने विंटर ग्रेड डीजल का उत्पादन शुरू किया है

इण्डियन आयल कॉर्पोरेशन (Indian Oil Corporation) ने विंटर ग्रेड डीजल (Winter Grade Diesel) का उत्पादन शुरू किया है. यह विंटर ग्रेड डीजल 33 डिग्री सेल्सियस पर भी काम करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2019, 4:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लद्दाख में पर्यटन (Tourism in Ladakh) को बढ़ावा देने की दिशा में केंद्र ने एक कदम और बढ़ाया है. इण्डियन आयल कॉर्पोरेशन (Indian Oil Corporation) ने विंटर ग्रेड डीजल (Winter Grade Diesel) का उत्पादन शुरू किया है. यह विंटर ग्रेड डीजल 33 डिग्री सेल्सियस पर भी काम करेगा. विंटर ग्रेड डीजल से लद्दाख में बर्फीले मौसम में वाहनों की आवाजाही आसान होगी जिसे पर्यटन को बढ़ावा देने की दिशा में बड़ा कदम माना जा रहा है.

क्या है विंटर ग्रेड डीजल की खासियत
विंटर ग्रेड डीजल की ख़ासियत यही है कि इसमें लगभग पांच प्रतिशत बायोडीजल का मिश्रण भी किया गया है. इसकी वजह से जहां डीजल वाहन के लिए बेहतर रहेगी वहीं इसके जम जाने की समस्या से निजात मिलेगी. पेट्रोलियम एक्सपर्ट की माने इसे माइनस33 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर भी उपयोग में लाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार के एक फैसले से बांग्लादेश के निकले आंसू, जानिए कैसे


अमित शाह ने सुभारंभ किया
गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने रविवार को लद्दाख क्षेत्र के लिए स्पेशल विंटर ग्रेड डीजल का शुभारंभ किया. इस अवसर पर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के साथ ही लद्दाख के सांसद जाम्यांग टेरसिंग नामग्याल भी मौजूद थे. केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय की पहल पर इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने इसका उत्पादन शुरू किया.
Loading...

​नहीं जमा है विंटर ग्रेड डीजल
स्पेशल विंटर ग्रेड डीजल-33 डिग्री सेल्सियस जैसी पर्यावरणीय स्थिति में भी यह अपनी तरलता बरकरार रखता है. दरअसल लद्दाख में तापमान की गिरावट के साथ सर्दियों में विशेष रूप से डीजल जम जाता है, जिससे वहां परिवहन से जुड़ी गतिविधियां रुक जाती हैं. यही नहीं दुनिया भर से आने वाले पर्यटकों को खासी दिक्कतों का भी सामना करना पड़ता है. उच्च दबाव वाले क्षेत्रों जैसे लद्दाख, करगिल, काज़ा और किलोंग में डीजल का बर्फ बन जाना सामान्य घटना होती है. ऐसी स्थितियों से बचने के लिए इंडियन ऑयल ने स्पेशल विंटर ग्रेड डीजल काम आएगा.

ये भी पढ़ें: भारत से मेहंदी, सहजन खरीदने में बढ़ी चीन की रुचि, जानें वजह...

निर्धारित बजट की अवधि की अनिवार्यता समाप्त
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बताया कि केंद्र सरकार लद्दाख के समूचित विकास के लिए 50 हज़ार करोड़ की लागत से बिजली, सौर ऊर्जा, शिक्षा और पर्यटन को प्रोत्साहित कर रही है. केंद्र सरकार ने बजट में लद्दाख के लिए निर्धारित बजट राशि को खर्च करने की अवधि की अनिवार्यता को भी समाप्त किया है, यानी लद्दाख के हिस्से की राशि वहां के लोग अपनी जरुरत के मुताबिक विकास कार्यों में जब तक खर्च नहीं कर लेते वह शून्य घोषित नहीं की जाएगी. उन्होंने कहा कि लद्दाख के लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में लद्दाख विकास की नई गाथा लिखने का साक्षी बनेगा.

इस अवसर पर केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि इससे लद्दाख में विंटर ग्रेड डीजल की अबाध आपूर्ति संभव होगी, परिवहन की गतिविधियां यदि बिना रुकावट चलती रहेंगी तो वहां लोगों के रोजगार और पर्यटन आधारित अर्थव्यस्था को मजबूती मिलेगी.

(अमिताभ सिन्हा)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 4:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...