मुनाफे के बावजूद इंडियन ओवरसीज बैंक को 1000 करोड़ रुपये की जरूरत, सरकार से लगाई मदद की गुहार

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

सरकारी क्षेत्र के इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank) को तीन तिमाहियों से लाभ होने के बावजूद सरकार से एक हजार करोड़ रुपये की सहायता की मांग की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकारी क्षेत्र के इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank) ने बैंक ने आकस्मिक आवश्यकताओं को लेकर सुरक्षित कोष बनाने के लिए सरकार से एक हजार करोड़ रुपये की मदद की मांग की है. आईओबी (IOB) को लगातार तीन तिमाहियों से लाभ हुआ है. बैंक को चालू वित्त वर्ष में यह क्रम आगे भी जारी रहने की उम्मीद है.

बैंक को सितंबर तिमाही में 148 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ है, जबकि साल भर पहले की समान अवधि में उसे 2,254 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. बैंक का लाभ जून तिमाही के 121 करोड़ रुपये की तुलना में सितंबर तिमाही में 22.3 प्रतिशत बढ़ा है.

ये भी पढ़ें- LTC Cash Voucher Scheme: क्या परिवार के सदस्यों को भी मिलेगा इस योजना का लाभ? जानिए क्या है सरकार का कहना



सरकार से पूंजीगत समर्थन की मांग
आईओबी के प्रबंध निदेशक पीपी सेनगुप्ता ने कहा, ''हम क्रम के आगे भी जारी रहने की उम्मीद करते हैं. अब पीछे जाने का सवाल नहीं है.'' पूंजीगत जरूरतों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ''हम चाहते हैं कि हमारे लाभ से पूंजी की स्थिति मजबूत हो. यह हमारा आंतरिक लक्ष्य है और हम इस लक्ष्य की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं. हमने सरकार से पूंजीगत समर्थन की मांग भी की है. देखना है कि हमें कितनी मदद मिल पाती है. हम किसी आकस्मिक आवश्यकता को लेकर सुरक्षित पूंजी रखना चाहते हैं.''

ये भी पढ़ें- कोरोना संकट के बीच जुलाई से अब तक 1 करोड़ लोगों को मिला रोजगार, 4 महीने में 11 लाख MSMEs का हुआ रजिस्‍ट्रेशन

RBI के आंकड़ों से अच्‍छे संकेत! अक्‍टूबर 2020 में बैंकों के कर्ज और डिपॉजिट में हुई बढ़ोतरी
दूसरी ओर, आरबीआई के कोरोना संकट के बीच बैंकों की ओर से बांटे गए कर्ज और ग्राहकों की ओर से किए गए डिपॉजिट में वृद्धि को लेकर जारी किए गए आंकड़े देश की अर्थव्‍यवस्‍था के लिए अच्‍छे संकेत माने जा रहे हैं. आरबीआई डाटा के मुताबिक, 23 अक्टूबर को खत्म हुए पखवाड़े के दौरान बैंकों के लोन पोर्टफोलियो में 5.06 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. इससे बैंकों का कर्ज 103.39 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. इस दौरान बैंकों का जमा 10.12 फीसदी बढ़कर 142.92 करोड़ रुपये हो गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज