अपना शहर चुनें

States

ट्रंप प्रशासन के अंतिम नियम से भारतीय पेशेवरों को होगा बड़ा फायदा! बढ़ेगा H-1B कर्मचारियों का वेतन

ट्रंप प्रशासन ने अमेरिका में काम करने वाले विदेशी पेशेवरों का वेतन स्‍थानीय नागरिकों के बराबर करने का नियम बनाया है. (AP Photo/Alex Brandon)
ट्रंप प्रशासन ने अमेरिका में काम करने वाले विदेशी पेशेवरों का वेतन स्‍थानीय नागरिकों के बराबर करने का नियम बनाया है. (AP Photo/Alex Brandon)

अमेरिका के श्रम विभाग (US Labor Department) ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का कार्यकाल खत्म होने से पहले अंतिम नियम की घोषणा की है. इसके तहत अमेरिका में H-1B जैसे दूसरे वीजा या ग्रीन कार्ड पर रह रहे लोगों का वेतन बढ़ (Salary Hike) जाएगा. श्रम विभाग ने ये बदलाव अमेरिकी कर्मचारियों के वेतन और नौकरी के मौकों (Job Opportunities) को बचाने के लिए किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2021, 9:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) के आखिरी नियम से भारतीय पेशेवरों (Indian Professionals) को बड़ा फायदा मिलेगा. ट्रंप के प्रशासन से बाहर होने से कुछ दिन पहले ही अमेरिका के श्रम विभाग (Labor Department) ने कहा था कि अंतिम नियम से वेतन पद्धति में सुधार होगा. इससे अमेरिकी कर्मचारियों के वेतन और नौकरी के अवसरों की रक्षा करने में मदद मिलेगी. साथ ही H-1B, H-1B 1 और E-3 वीजा का दुरुपयोग भी कम होगा. श्रम विभाग ने कहा कि अंतिम नियम विदेशी पेशेवरों के वेतन में सुधार (Salary Hike) करेगा. ये अमेरिकी कर्मचारियों को भुगतान किए गए वेतन के बराबर होगा. इसमें कहा गया है कि यह बदलाव अमेरिकी कर्मचारियों के वेतन और नौकरी के मौकों को बचाने के लिए किया गया है.

ट्रंप एच-1बी वीजा नियमों में कर चुके हैं कई बदलाव
राष्ट्रपति ट्रंप अपने कार्यकाल की शुरुआत से ही अमेरिकी नागरिकों की नौकरी का हवाला देकर वीजा नियमों (VISA Rules) को कड़ा करने की बात करते आए हैं. इस दौरान उन्होंने कई नियमों में बदलाव भी किया. सबसे पहले उन्होंने सात मुस्लिम देशों पर ट्रेवल बैन (Travel Ban) लगाया था. इसके बाद अक्टूबर 2020 में राष्ट्रपति चुनाव से पहले भी ट्रंप ने रातों रात एच-1बी वीजा (H-1B VISA) से जुड़े नियमों में बदलाव कर भत्तों से जुड़े मानकों को बढ़ा दिया था. इसके अलावा कंपनियों के लिए विदेशी कर्मचारियों को काम पर रखने की शर्तों में भी कई बदलाव किए गए थे.

ये भी पढ़ें- Signal App बेहतर सर्विस के लिए करेगा बड़े पैमाने पर भर्तियां, महज 7 दिन में हासिल की 62 गुना बढ़ोतरी




 जो बाइडन ने ट्रंप की आव्रजन नीतियों को बताया क्रूर
एच-1बी वीजा गैर-आप्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों में विदेशी कर्मचारियों को नौकरी पर रखने की अनुमति देता है. अमेरिका की ज्‍यादातर तकनीकी कंपनियां भारत और चीन से हर साल हजारों कर्मचारियों को नियुक्त करने के लिए इस वीजा प्रोग्राम पर निर्भर हैं. हालांकि, डेमोक्रेट नेता जो बाइडन (Joe Biden) ने ये कहते हुए H-1B वीजा पर निलंबन हटाने का वादा किया है कि ट्रंप की आव्रजन नीतियां (Immigration Policies) क्रूर हैं. बता दें कि जो बाइडन 20 जनवरी 2021 को 46वें अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेने वाले हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज