रेलवे को मिली बड़ी कामयाबी! रिकॉर्ड 41 महीनों में तैयार की इलेक्ट्रिफाइड टनल

रेलवे को मिली बड़ी कामयाबी! रिकॉर्ड 41 महीनों में तैयार की इलेक्ट्रिफाइड टनल
41 महीनों में तैयार किए गए रेलवे (Indian Railways) के इस टनल की लंबाई करीब 6.6 किलोमीटर की है, जिसे ऑस्‍ट्रेलियाई तकनीक पर तैयार किया गया है. इस टनल की कुल लागत 480 करोड़ रुपये रही है.

41 महीनों में तैयार किए गए रेलवे (Indian Railways) के इस टनल की लंबाई करीब 6.6 किलोमीटर की है, जिसे ऑस्‍ट्रेलियाई तकनीक पर तैयार किया गया है. इस टनल की कुल लागत 480 करोड़ रुपये रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2019, 4:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. माल ढुलाई के क्षेत्र में भारतीय रेल (Indian Railways) को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. आंध्र प्रदेश के चेरलोपल्ली और रापुरु रेलवे स्टेशन (Railway Stations) से बीच देश की सबसे लंबी electrified टनल तैयार की गई है, वो भी सिर्फ 41 महीनों में. इस टनल को ऑस्‍ट्रेलियाई तनकीक के आधार पर तैयार किया गया है. हॉर्स शू यानी घोड़े की नाल के आकार में बनी ये टनल, अपने डिज़ाइन और टेक्नोलॉजी की वजह से खूब चर्चा में है. हॉर्स शू मॉडल की तकनीक मजबूत पहाड़ों में इस्तेमाल की जाती है. पुरानी और इस तकनीक में फर्क ये है कि इसमें कम पहाड़ों को काटने की जरूरत होती है. इस वजह से खर्च भी कम आता है .

आपको बता दें कि चेरलोपल्ली और रापुरु स्टेशनों के बीच बनी इस टनल की लंबाई 6.6 km है और इसे बनाने में करीब 480 करोड़ रुपये की लागत आयी है.

ये भी पढ़ें:  महंगे क्रूड से Air India को लगेगा हर महीने 50 करोड़ का झटका! बढ़ सकता है हवाई किराया




केवल महीने में तैयार किया गया 6.6 km लंबा टनल- टनल में हर 10 मीटर की दूरी पर एक LED लाइट लगाई गई है. इस टनल को 43 महीने में तैयार करना रेलवे के लिए एक बड़ी चुनौती रही. गुंटुर Division के DRM आलोक तिवारी बताते हैं कि इस टनल को तैयार करना अपने आप में चुनौती थी.

गेम चेंजर साबित होगी ये टनल- ये नई इलेक्ट्रिफाइड टनल कृष्णपत्नम पोर्ट और इसके अंदर के क्षेत्रों को रेल से जोड़ती है. बड़ी कामयाबी ये है कि इस टनल के बनने के बाद कृष्णपत्नम बंदरगाह और ओबुलाबरिपल्ली और कृष्णपत्नम पोर्ट के बीच दूरी करीब 70 km तक कम हो गयी. यानी इन दोनों जगहों के बीच मालगाड़ी पहुचने में जो 10 घंटे का वक़्त लगता था वो अब 5 घंटे का हो गया है. ज़ाहिर तौर पर मालगाड़ियों के संचालन में ये सबसे लंबी electrified टनल गेम चेंजर साबित होगी.

(दिपाली नंदा, संवाददाता, CNBC आवाज़)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading