रेलवे कटरा में बना रही केबल पर टिका देश का पहला रेल ब्रिज, देखें VIDEO

रेलवे कटरा में बना रही केबल पर टिका देश का पहला रेल ब्रिज, देखें VIDEO
कटरा में रेलवे बना रही देश का पहला केबल ब्रिज

अंजी पुल (Anji Bridge) की लंबाई 473.25 मीटर है. इसमें लगे खंभे की ऊंचाई नदी के तल से 331 मीटर है. इस पुल को सपोर्ट देने के लिए 96 केबल्स का जाल बनाया जाएगा. यह खास डिजाइन पुल को तेज हवाओं और भयंकर तूफानों में भी मजबूती से खड़े रहने में मदद करेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railway) एक और कीर्तिमान अपने नाम करने जा रही है. रेलवे जम्मू कश्मीर में देश का पहले केबल ब्रिज बनाने जा रही है. कटरा और रियासी के बीच बनने वाला अंजी पुल उत्कृष्ट इंजीनियरिंग का बेहतरीन नमूना है. भारतीय रेल द्वारा बनाया जा रहा यह देश का पहला रेल ब्रिज है जो केबल पर टिका है. यह शानदार रेल ब्रिज कटरा और रियासी के बीच बनेगा जो उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक परियोजना का एक हिस्सा है. आइए जानते हैं क्या खास है अंजी ब्रिज में.

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्विटर पर रेलवे द्वारा बनाई जा रही केबल ब्रिज का वीडिया शेयर किया है. अंजी पुल की लंबाई 473.25 मीटर है. इसमें लगे खंभे की ऊंचाई नदी के तल से 331 मीटर है. इस पुल को सपोर्ट देने के लिए 96 केबल्स का जाल बनाया जाएगा. यह खास डिजाइन पुल को तेज हवाओं और भयंकर तूफानों में भी मजबूती से खड़े रहने में मदद करेगा. यह ब्रिज जम्मू कश्मीर क्षेत्र में रेलवे नेटवर्क को मजबूत करने व राज्य के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.

यह भी पढ़ें- पैसा कमाना है तो करें लेमन ग्रास की खेती, एक बार लगाएं 5 साल तक लाखों कमाएं





यह भी पढ़ें- IRCTC-SBI RuPay Card- टिकट बुक करने पर नहीं लगेगा चार्ज, फ्री में उठा सकेंगे एक्जीक्यूटिव लाउंज का फायदा

दुनिया की पहली इलेक्ट्रिफाइड सुरंग का निर्माण
इसके अलावा रेलवे द्वारा हरियाणा के सोहना के पास अरावली की पहाड़ियों को खोदकर यह सुरंग बनाई जा रही है. इसकी लंबाई एक किलोमीटर होगी. इसकी खुदाई का काम पूरा हो चुका है. यह सुरंग रेवाड़ी-दादरी रूट पर बन रही है. अगले एक साल में इसका काम पूरा होने की उम्मीद है. यह सुरंग मालगाड़ियों के लिए बनाए जा रहे पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का हिस्सा है.इसमें डबल स्लैक कंटेनर यानी दो मंजिला मालगाड़ियां भी आसानी से गुजर सकेंगी. यह रेल लाइन पूरी तरह से इलेक्ट्रिक होगी.सुरंग में डबल लाइन पटरियां होगीं यानी एक साथ दो मालगाड़ियां साथ गुजर सकती हैं. रेलवे का कहना है इस सुरंग से मालगाड़ियां 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से गुजर सकेंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading