लाइव टीवी

प्लेटफॉर्म टिकट की बिक्री से रेलवे को कितनी हुई कमाई, रेल मंत्री ने संसद में बताया

News18Hindi
Updated: November 27, 2019, 5:10 PM IST
प्लेटफॉर्म टिकट की बिक्री से रेलवे को कितनी हुई कमाई, रेल मंत्री ने संसद में बताया
प्लेटफॉर्म टिकट से रेलवे को हुई 2018-19 में 139.20 करोड़ रुपये की कमाई

रेलवे को प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री से मौजूदा वित्त वर्ष में सितंबर महीने तक 78.50 करोड़ रुपये की आय हुई जबकि 2018-19 में स्टेशनों से विज्ञापनों और दुकानों से 230.47 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2019, 5:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रेल मंत्री (Railway Minister) पीयूष गोयल ने बुधवार को कहा कि प्लेटफॉर्म टिकटों (Platform Tickets) की बिक्री से भारतीय रेल (Indian Railway) को 2018-19 में 139.20 करोड़ रुपये की आय हुई. लोकसभा (Lok Sabha) में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में उन्होंने यह जानकारी दी.

गोयल ने कहा कि प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री से मौजूदा वित्त वर्ष में सितंबर महीने तक 78.50 करोड़ रुपये की आय हुई. उन्होंने यह भी कहा कि 2018-19 में स्टेशनों से विज्ञापनों और दुकानों से 230.47 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ.

10 रुपये में मिलता है प्लेटफॉर्म टिकट
भारतीय रेलवे द्वारा जारी की जाने वाली प्लेटफॉर्म टिकट रेलवे स्टेशन के टिकट काउंटर से महज 10 रुपये में खरीद सकते हैं. 10 रुपये की टिकट से आप दो घंटे तक प्लेटफॉर्म पर रह सकते हैं.

ये भी पढ़ें: कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र घटाने के सवाल पर सरकार ने संसद में दिया ये जवाब

रेलवे के निजीकरण पर पीयूष गोयल ने दिया जवाब
इससे पहले, शुक्रवार को पीयूष गोयल ने राज्यसभा में कहा था कि रेलवे का निजीकरण नहीं किया जा रहा है बल्कि कुछ कमर्शियल और ऑनबोर्ड सेवाओं को आउटसोर्स की जा रही है. गोयल ने राज्यसभा में कहा, 'हमारी मंशा है कि हम लोगों को बेहतर सर्विस और सुविधाएं दे सकें और रेलवे की निजीकरण न करें. भारतीय रेलवे अभी भी देश और आम लोगों की प्रॉपर्टी और हमेशा ही रहेगी.' सरकार के अनुमान के मुताबिक, रेलवे को विकास के लिए अगले 12 साल में 50 लाख करोड़ रुपये की जरूरत होगी.
Loading...

संभव नहीं 12 साल में 50 लाख करोड़ खर्च करना
अपने जवाब में गोयल ने कहा, हर दिन कुछ सदस्य नई लाइन और बेहतर सुविधांओं की मांग करने के लिए आते हैं. अगले 12 साल में भारत सरकार के लिए 50 लाख करोड़ रुपये खर्च करना संभव नहीं है. ये बात हम सब जानते हैं.

ये भी पढ़ें: 
इन 6 देशों में 25 रुपये/लीटर से भी सस्ता है पेट्रोल, यहां करें चेक
ये है भारत की 5 सबसे सस्ती मार्केट्स, यहां 20 रुपए में खरीदें शर्ट और टॉप्‍स
इन चीजों के लिए जूट पैकेजिंग हुई अनिवार्य, सरकार ने इसलिए लिया ये बड़ा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 5:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...