रेलवे का दावा- 15 दिनों से भी कम समय में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से इतने लाख लोगों को पहुंचाया घर

रेलवे का दावा- 15 दिनों से भी कम समय में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से इतने लाख लोगों को पहुंचाया घर
इंडियन रेलवे (Indian Railway) का कहना है कि 14 मई 2020 तक देशभर के विभिन्न राज्यों से कुल 800 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Trains) का परिचालन किया जा चुका है. 10 लाख से अधिक यात्री अपने गृह राज्य पहुंच चुके हैं. ये 800 ट्रेनें आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, झारखंड जैसे राज्यों में चलाए गए हैं.

इंडियन रेलवे (Indian Railway) का कहना है कि 14 मई 2020 तक देशभर के विभिन्न राज्यों से कुल 800 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Trains) का परिचालन किया जा चुका है. 10 लाख से अधिक यात्री अपने गृह राज्य पहुंच चुके हैं. ये 800 ट्रेनें आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, झारखंड जैसे राज्यों में चलाए गए हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. इंडियन रेलवे (Indian Railway) ने दावा किया है कि 15 दिनों से भी कम समय में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों (Shramik Special Trains) से 10 लाख यात्रियों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाया है. भारतीय रेलवे ने देशभर में 14 मई 2020 तक 800 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन कर चुकी है. इस यात्रा में रेलवे ने यात्रियों को मुफ्त भोजन और पानी भी मुहैया कराई है. राज्य सरकारों की सहमति के बाद रेलवे द्वारा चलाई जा रही इन ट्रेनों से इन यात्रियों का लाभ हुआ है.

10 लाख प्रवासियों को पहुंचाया घर

बता दें कि इंडियन रेलवे ने विशेष रेलगाड़ियों के द्वारा देश के विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी श्रमिकों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य व्यक्तियों को उनके गंतव्य स्थानों पर पहुंचा रही है. इंडियन रेलवे ने गृह मंत्रालय के आदेश के बाद श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन का निर्णय लिया था.



800 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का किया परिचालन
रेलवे ने कहा है कि 14 मई 2020 तक देशभर के विभिन्न राज्यों से कुल 800 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा चुका है. 10 लाख से अधिक यात्री अपने गृह राज्य पहुंच चुके हैं. ये 800 ट्रेनें आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, मिजोरम, ओडिशा, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में चलाए गए हैं.

रेलवे ने कहा है कि इन ट्रेनों में चढ़ने से पहले यात्रियों की उचित जांच सुनिश्चित की जाती है. यात्रा के दौरान यात्रियों को मुफ्त भोजन और पानी भी दिया जाता है.

ये भी पढ़ें: 

लॉकडाउन के दौरान बिना टिकट के ट्रेन में कर रहे थे सफर, रेलवे ने वसूले 31 हजार 816 रुपये
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading