• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Railway बेच रहा प्राइम लैंड! रेजीडेंशियल और कमर्शियल यूज के लिए करेगा 99 साल की लीज, जानें कीमत

Railway बेच रहा प्राइम लैंड! रेजीडेंशियल और कमर्शियल यूज के लिए करेगा 99 साल की लीज, जानें कीमत

रेलवे स्‍टेशन के नजदीक की प्राइम लैंड 99 साल की लीज पर दे रहा है.

रेलवे स्‍टेशन के नजदीक की प्राइम लैंड 99 साल की लीज पर दे रहा है.

देशभर में रेलवे (Indian Railway) के पास 43,000 हेक्‍टेयर खाली जमीन पड़ी है. रेल भूमि विकास प्राधिकरण (RLDA) के पास इस समय देशभर में 100 कमर्शियल साइट्स हैं, जिनको लीज (Land on Lease) पर दिया जाना है.

  • Share this:
    कोलकाता. भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने पूंजी जुटाने के लिए हावड़ा स्‍टेशन (Howrah Station) के नजदीक की प्राइम लैंड को 99 साल की लीज पर देने की पेशकश की है. रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, लीज पर लेने के बाद इस प्राइम लैंड (Railway Prime Land) का रेजिडेंशियल और कमर्शियल दोनों तरह का इस्‍तेमाल किया जा सकेगा. उन्‍होंने बताया कि हुगली नदी के किनारे की इस 88,300 वर्ग मीटर जगह का रिजर्व प्राइस (Reserve Price) 448 करोड़ रुपये रखा गया है. रेल भूमि विकास प्राधिकरण (RLDA) ने इस जमीन को लीज पर देने के लिए बोलियां आमंत्रित की हैं.

    डेवलपर्स 29 अगस्‍त 2021 तक सौंप सकते हैं अपनी बोली
    रेलवे अधिकारी ने बताया कि ये जमीन हावड़ा स्‍टेशन से 1.5 किमी की दूरी पर मौजूद है. ये जमीन 20 मीटर चौड़े हाइवे के दोनों ओर है. साथ ही कहा कि प्री-बिड मीटिंग (Pre-Bid Meeting) में स्‍थानीय डेवलपर्स की प्रतिक्रिया काफी उत्‍साहजनक रही है. इच्‍छुक डेवलपर्स 29 अगस्‍त 2021 तक अपनी बोली सौंप सकते हैं. बता दें कि आरएलडीए रेलवे मंत्रालय (Railway Ministry) के अधीन काम करता है. इसका काम रेलवे की जमीनों का विकास करना है. इसके चार प्रमुख काम कमर्शियल प्रॉपर्टी को लीज पर देना, रेलवे कॉलोनी का री-डेवलपमेंट, स्‍टेशन री-डेवलपमेंट और कई तरह के इस्‍तेमाल में आने वाले कॉम्‍प्‍लेक्‍सेस का डेवलपमेंट है.

    ये भी पढ़ें- ICICI Bank समेत 3 बैंक ने शुरू की नई सर्विस! अब सिर्फ मोबाइल नंबर से रोज भेज सकते हैं 1 लाख रुपये, जानें कैसे

    RLDA को देशभर में लीज पर देनी हैं 100 कमर्शियल साइट्स
    आरएलडीए के उपाध्‍यक्ष वेद प्रकाश डुडेजा ने कहा कि इस जमीन का रेजिडेंशियल और क‍मर्शियल दोनों इस्‍तेमाल किया जा सकता है. इसके अलावा वहां वाटर स्‍पोर्ट्स फैसिलिटी भी तैयार की जा सकती है. उन्‍होंने बताया कि जमीन उत्‍तर में गोलाबाड़ी घाट व रत्‍नाकर स्‍कूल, दक्षिण में सिग्‍नल वर्कशॉप व रेलवे प्रिंटिंग प्रेस, पूर्व में हुगली नदी और पश्चिम में साल्किया स्‍कूल रोड से घिरी है. बोली के विजेता को जमीन पर 10 साल के भीतर डेवलपमेंट वर्क पूरा करना होगा. बता दें कि देशभर में रेलवे के पास 43,000 हेक्‍टेयर खाली जमीन पड़ी है. आरएलडीए इस समय 84 रेलवे कॉलोनी के री-डेवलपमेंट प्रोजेक्‍ट्स को देख रहा है. इस समय आरएलडीए के पास देशभर में 100 कमर्शियल साइट्स हैं, जिनको लीज पर दिया जाना है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज