रेल मंत्री ने पीयूष गोयल कहा-अब ट्रेन के अंदर मिलेगी WiFi की सुविधा

पीयूष गोयल ने दावा किया कि बीजेपी अकेली पार्टी है जो चुनावी राजनीति में काले धन के इस्तेमाल के खिलाफ लड़ रही है.

CNBC आवाज़ के साथ हुई खास बातचीत में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बताया है कि अगले चार से साढ़े चार साल में ट्रेनों के अंदर वाई-वाई (WiFi) सर्विस मुहैया कराने की योजना बना रही है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. केंद्रीय रेल मंत्री (Union Minister of Railway) पीयूष गोयल ने कहा कि केंद्र सरकार अगले चार से साढ़े चार साल में ट्रेनों के अंदर वाई-वाई (WiFi) सर्विस मुहैया कराने की योजना बना रही है. CNBC आवाज़ के साथ हुई खास बातचीत में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि फिलहाल वाई-फाई सर्विस (WiFi Services) भारत के 5150 रेलवे स्‍टेशनों (Railway Stations) पर उपलब्‍ध है. उन्‍होंने कहा कि अगले साल के अंत तक हम सभी 6500 स्‍टेशन पर वाई-फाई सर्विस उपलब्‍ध कराने की कोशिश कर रहे हैं.

    ट्रेन के भीतर वाई-फाई सर्विस उपलब्‍ध कराने के सवाल पर गोयल ने कहा कि यह एक अधिक जटिल टेक्‍नोलॉजी का मुद्दा है. चलती ट्रेन के भीतर वाई-फाई उपलब्‍ध कराने के लिए निवेश की आवश्‍यकता होगी, टॉवर्स लगाने होंगे और ट्रेन के भीतर कुछ उपकरण भी फिट करने होंगे. इसके लिए हमें विदेशी टेक्‍नोलॉजी और निवेशकों दोनों की जरूरत होगी.

    ट्रेन के डिब्बे में लगेंगे CCTV- गोयल ने कहा कि इससे सुरक्षा पुख्ता होगी, प्रत्येक कोच में लगे सीसीटीवी (CCTV) की लाइव फीड निकट के पुलिस थाने में जाएगी. ट्रेनों के परिचालन के लिए सिग्नल सिस्टम को भी वाई-फाई का इस्तेमाल किया जाएगा. अगले चार से साढ़े चार साल के भीतर हम इस सुविधा को शुरू कर देंगे.

    ये भी पढ़ें: मोदी सरकार ने दिया किसानों को बड़ा तोहफा! MSP में हुई इतने रुपये तक की बढ़ोतरी
    निजी भागीदारी से रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण- गोयल ने कहा कि निजी भागीदारी के साथ हम रेलवे स्‍टेशनों को आधुनिकीकरण कर रहे हैं.


    भोपाल के हबीबगंज स्टेशन का उदाहरण देते हुए रेल मंत्री ने कहा कि यह स्टेशन पूरी तरह से तैयार होने वाला है.


    इसके अलावा एनबीसीसी भी 12-13 स्टेशनों को तैयार कर रही है. इसमें घर, कमर्शियल गतिविधयां और शॉपिंग मॉल का निर्माण किया जा रहा है ताकि रेलवे की आय को बढ़ाया जा सके.


    100 फीसदी इलेक्ट्रिक हो जाएगी रेलवे
    रेल मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हम रेलवे को दुनिया का पहला जीरो एमिशन रेलवे बनाना चाहते हैं.

    उन्होंने कहा अगले चार से पांच साल के भीतर रेलवे 100 फीसदी इलेक्ट्रिक हो जाएगी. उन्‍होंने कहा कि रेलवे की जमीन पर हम इंडस्ट्रियल पार्क विकसित करने की योजना पर भी काम कर रहे हैं.




    (लक्ष्मण रॉय, इकोनॉमिक-पॉलिसी एडिटर, CNBC आवाज़)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.