रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी! जल्द आसानी से मिलेगा कन्फर्म टिकट, 4 लाख से ज्यादा बढ़ेगी सीटें

रेलवे ने कन्फर्म सीटों की मारामारी को कम करने के लिए रेलवे एक नई तकनीक अपनाने जा रहा है जिसकी मदद से सेकेंड और थर्ड AC कोच की संख्या बढ़ाई जाएगी.

CNBC आवाज
Updated: July 16, 2019, 11:09 AM IST
रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी! जल्द आसानी से मिलेगा कन्फर्म टिकट, 4 लाख से ज्यादा बढ़ेगी सीटें
रेलवे ने कन्फर्म सीटों की मारामारी को खत्म किया
CNBC आवाज
Updated: July 16, 2019, 11:09 AM IST
रेल से यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए बड़ी खबर. रेलवे में यात्रियों की परेशानियों को कम करने के लिए रेलवे ने एक नई तकनीक तैयार की है. रेलवे ने कन्फर्म सीटों की मारामारी को कम करने के लिए रेलवे एक नई तकनीक अपनाने जा रहा है जिसकी मदद से सेकेंड और थर्ड AC कोच की संख्या बढ़ाई जाएगी. ट्रेनों में AC कोच बढ़ने वाले हैं. ऐसा रेलवे के तकनीकी अपग्रेडेशन के चलते होने वाला है. भारतीय रेल सभी LHB कोचेस में HOG यानी होटल लोड जनरेशन सिस्टम लगाने जा रही है. ऐसा करने से सीटों की संख्या बढ़ाने के साथ रेलवे का डीजल पर होने वाला खर्च कम करने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें: सरकार का प्लान, मकान मालिक मन मुताबिक नहीं बढ़ा सकेंगे किराया

4 लाख से ज्यादा अतिरिक्त बर्थ का इंतजाम होगा
इस तकनीक की मदद से ट्रेनों से पावर जनरेटर कार हट जाएगी. रेलवे के मुताबिक अक्टूबर तक ट्रेनों में यात्रियों के लिए हर दिन 4 लाख से ज्यादा अतिरिक्त बर्थ का इंतजाम हो जाएगा. इस तकनीक की वजह से रेलवे को ईंधन में सालाना 6000 करोड़ रुपए की बचत होगी. वहीं इस तकनीक से पर्यावरण प्रदूषण का स्तर भी घटेगा.

ये भी पढ़ें: PAN कार्ड और आधार के बदल गए ये नियम, आप होगा फायदा

इन चीजों की जगह AC कोचेज लगाएगी रेलवे 
असल में LHB कोच में होटल लोड जनरेशन सिस्टम लगाया जाएगा. इसके लगने से इंजन से ही ट्रेन के लिए बिजली की सप्लाई की जाएगी. फिलहाल बिजली की सप्लाई के लिए ट्रेन के आगे और पीछे 2 पावर जनरेटर कार लगाए जाते हैं. HOG तकनीक पावर कार जनरेटर की जरूरत को खत्म कर देगी. रेलवे यात्रियों की मांग मुताबिक इनकी जगह पर AC कोचेज लगाएगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 10:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...