बड़ी खबर- ट्रेनों के स्लीपर कोच को AC में बदलने की तैयारी, जानिए क्या है रेलवे का नया प्लान

बड़ी खबर- ट्रेनों के स्लीपर कोच को AC में बदलने की तैयारी, जानिए क्या है रेलवे का नया प्लान
स्लीपर कोच बनेंगे वातानुकूलित

भारतीय रेलवे (Indian Railway) स्लीपर कोच को एसी कोच में बदलने की तैयारी कर रहा है, जिसमें मौजूदा 72 के बजाय 83 बर्थ होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2020, 9:06 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railway) यात्रियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए आए दिन नए कदम उठाता रहता है. इस बार रेलवे आम नागरिकों को कम किराए पर AC कोच में सफर करने की सुविधा देना चाहता है. इसके लिए रेलवे ने स्लीपर और गैर-आरक्षित श्रेणी (अनारक्षित) कोच को AC कोच में बदलने का प्लान तैयार किया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रेलवे इसके जरिए देशभर में एसी ट्रेनों को लाने की योजना बना रहा है, जिससे यात्रियों को कम खर्च में बेहतर सफर की सुविधा मिलेगी. अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार, अपग्रेड किए हुए स्लीपर कोच को इकोनॉमिकल एसी 3-टियर कहा जाएगा.

AC 3-टियर में 72 बर्थों की जगह होगी 83 बर्थ
अंग्रेजी के अखबार, इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक, रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला को स्लीपर कोच के एसी कोच में बदलने काम सौंपा गया है. अखबार को सूत्रों ने बताया कि इन नए इकोनॉमिकल AC 3-टियर में 72 बर्थों की जगह 83 बर्थ होंगी. शुरुआत में इन कोच को एसी-3 टियर टूरिस्ट क्लास भी कहा जाएगा. बताया जा रहा है कि इन ट्रेनों का किराया भी सस्ता होगा ताकि यात्री इसमें सफ़र कर सके. पहले फेज में इस तरह के 230 डिब्बों का उत्पादन किया जाएगा.

ये भी पढ़ें : बड़ी खबर! सरकार अब IRCTC में बेचेगी अपनी 15 से 20 फीसदी हिस्सेदारी
आएगा 3 करोड़ रुपए तक का खर्च


अखबार को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़, हर कोच को बनाने में 2.8 से 3 करोड़ रुपए तक का अनुमानित खर्चा आएगा, जो कि एसी 3-टियर को बनाने के खर्च से 10 फीसदी ज्यादा है. हालांकि, ज्यादा बर्थ और मांग के चलते रेलवे को इकोनॉमिकल एसी 3-टियर से अच्छी कमाई की उम्मीद है. इसके अलावा अनआरक्षित जनरल क्लास के डिब्बों को भी 100 सीट के एसी डिब्बों में बदला जाएगा. इनके लिए डिजाइन को अंतिम प्रारूप दिया जा रहा है.

ये भी पढ़ें : Special Train Ticket Booking: शुरू होंगी ये 80 ट्रेनें, जानें कैसे होगी बुकिंग, यात्रा के दौरान करना होगा इन नियमों का पालन

पहले भी तैयार की जा चुकी है ऐसी योजना
2004-09 के बीच UPA-I सरकार के दौरान ने इकोनॉमिकल एसी 3-टियर क्लास डिब्बों को तैयार करने के बारे में योजना तैयार की थी. उसी समय गरीब रथ एक्सप्रेस ट्रेनें लॉन्च हुई थीं, जिन्हें एसी इकोनॉमी क्लास कहा गया. हालांकि, यात्रियों ने इसमें सफर के दौरान परेशानी की बात कही. साथ ही ट्रेन में भीड़भाड़ की स्थिति भी पैदा होने लगी. बाद में इस तरह के कोच का उत्पादन बंद कर दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज