रेलवे का सबसे बड़ा कारनामा! जल्द बिना बिजली और डीज़ल के दौड़ेगी ट्रेन, देखें ये खास Video

रेलवे का सबसे बड़ा कारनामा! जल्द बिना बिजली और डीज़ल के दौड़ेगी ट्रेन, देखें ये खास Video
Indian Railway की मेहनत हुई सफल! जल्द बिना बिजली और डीजल के दौड़ेगी ट्रेन

भारतीय रेल (Indian Railway) ने बैटरी से चलने वाले इंजन को बनाया है और इसका सफल परीक्षण भी किया है. तो अब ये कहना गलत नहीं होगा की कुछ ही दिनों में अब पटरियों पर बैटरी से चलने वाली ट्रेनें नजर आ सकती हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. पिछले 3 महीनों में इंडियन रेलवे (Indian Railway) कई नई चीजें लांच कर चुका है. क्लीन फ्यूल के इस्तेमाल को रेलवे ने और आगे बढ़ाया है. भारतीय रेल ने बैटरी से चलने वाले इंजन को बनाया है और इसका सफल परीक्षण भी किया है. तो अब ये कहना गलत नहीं होगा की कुछ ही दिनों में अब पटरियों पर बैटरी से चलने वाली ट्रेनें नजर आ सकती हैं.

 बिजली और डीजल की खपत को बचाने के लिए उठाया ये कदम
रेलवे के मुताबिक इस इंजन का निर्माण बिजली और डीजल की खपत को बचाने के लिए किया गया है. इंडियन रेलवे ने बताया कि पश्चिम मध्य रेल के जबलपुर मंडल में बैटरी से चलने वाले ड्यूल मोड शंटिंग लोको 'नवदूत' का निर्माण किया गया है, जिसका परीक्षण सफल रहा है. बैटरी से ऑपरेट होने वाला यह लोको, डीजल की बचत के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण में एक बड़ा कदम होगा.

ये भी पढ़ें:- अब बिना किसी Document के बनवा सकेंगे Aadhaar Card, UIDAI ने शुरू की नई सर्विस
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा कि बैटरी से ऑपरेट होने वाला यह लोको एक उज्ज्वल भविष्य का संकेत है, जो डीजल के साथ विदेशी मुद्रा की बचत और पर्यावरण संरक्षण में एक बड़ा कदम होगा.





ये भी पढ़ें:- आम आदमी के हित में सरकार ने आज लिए 4 बड़े फैसले, जान लें वर्ना नहीं मिलेगा फायदा

कुछ समय पहले पटरी पर दौड़ चुका शेषनाग
पिछले हफ्ते रेलवे ने 2.8 किलोमीटर लंबी मालगाड़ी को पटरियों पर दौड़ाकर इतिहास रच दिया. रेलवे ने इस ट्रेन को शेषनाग नाम दिया. इस ट्रेन में चार इंजन लगाए गए थे. ये ट्रेन 251 वैगन के साथ चली. इससे पहले रेलवे ने 2 किलोमीटर लंबी सुपर एनाकोंडा को दौड़ाया था, जिसमें 6000 हॉर्स पावर की क्षमता वाले 3 इंजन लगाए गए थे. इस ट्रेन में 177 लोडेड वैगन थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading