लाइव टीवी

कोरोना वायरस को लेकर रेलवे का बड़ा फैसला, 31 मार्च तक सभी पैसेंजर ट्रेनें रद्द

News18Hindi
Updated: March 22, 2020, 2:56 PM IST
कोरोना वायरस को लेकर रेलवे का बड़ा फैसला, 31 मार्च तक सभी पैसेंजर ट्रेनें रद्द
रेलवे ने उठाया बड़ा कदम

Coronavirus: मरीजों की रोजाना बढ़ती संख्या को देखते हुए भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने बड़ा फैसला लिया है. रेलवे मंत्रालय ने 31 मार्च तक सभी ट्रेन सर्विसेज को सस्पेंड कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2020, 2:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मरीजों की संख्या बढ़कर 341 हो गई है. कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने बड़ा फैसला लिया है. रेलवे मंत्रालय ने 31 मार्च तक सभी ट्रेन सर्विसेज़ को सस्पेंड कर दिया है. यानी 31 मार्च तक देश में ट्रेनें नहीं चलेंगी. मेल, सुपरफास्ट और पैसेंजर ट्रेनेंं 31 मार्च तक नहीं चलेंगी. इस दौरान केवल मालगाड़ी ही चलेंगी. रेलवे मंत्रालय के मुताबिक, 31 मार्च तक मालगाड़ियां चलेंगी. कोरोना के संक्रमण से आम जनता को बचाने के लिए यह कदम उठाया गया है. ट्रेनों में सामान्‍य रूप से अक्‍सर भीड़ होती है. सारे कोच खचाखच भरे रहते हैं. ऐसे में संक्रमण बहुत घातक रूप ले सकता है.

रेलवे ने अपनी कई ट्रेनें रद्द करके शुक्रवार को ही अपनी सेवाओं में कटौती कर दी थी, लेकिन उसने उन ट्रेनों को यात्रा जारी रखने की अनुमति दे दी थी जो पहले ही अपनी यात्रा शुरू कर चुकी थीं. रेलवे के नए आदेश के अनुसार 22 मार्च की आधी रात से 31 मार्च की आधी रात तक केवल मालगाड़ियां चलेंगी.

मेट्रो सेवाएं भी बंद
भारतीय रेलवे के एक प्रवक्ता ने कहा, बेहद न्यूनतम उपनगरीय सेवाएं और कोलकाता मेट्रो रेल सेवा 22 मार्च की आधी रात तक जारी रहेगी. इसके बाद ये सेवाएं भी 31 मार्च की आधी रात तक बंद रहेंगी.



बता दें कि रेलवे ने इससे पहले शनिवार 21 मार्च की रात से रविवार, 22 मार्च की रात 10 बजे तक सारी पैसेंजर ट्रेनों को निरस्‍त कर दिया गया था. रेलवे के आदेश के अनुसार 21/22 मार्च की रात से लेकर 22 मार्च की रात 10 बजे के बीच चलने वाली यात्री ट्रेनें नहीं चलेंगी.

मुंबई लोकल आम लोगों के लिए बंद
महाराष्ट्र सरकार ने 23 मार्च, दिन रविवार के सुबह 6 बजे से लेकर 31 मार्च तक आम लोगो के लिए मुंबई (Mumbai) की लोकल ट्रेन सेवा (Local Train Service) को बंद कर दिया है. हालांकि मुंबई लोकल की यात्रा सभी लोगों के लिए नहीं बंद की गई है क्योंकि कई सरकारी कर्मचारी (Government Employee) और स्वास्थ्य कर्मी भी इसकी सहायता से अपने काम के स्थानों तक जा पाते हैं. ऐसे में केवल जरूरी सेवाओ से जुड़े लोगों को ही अब अगले 8 दिनों के लिए मुंबई की लोकल रेल में यात्रा करने दी जाएगी. ये भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचने के लिए आ सकते हैं ये खास करेंसी नोट, SBI ने दिए सुझाव



ट्रेन में 12 यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए
जिन लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण के संदेह में अनिवार्य रूप से क्वारेंटीन में रहने को कहा गया है, वे भी ट्रेनों में यात्रा करते देखे गए हैं. रेलवे ने 12 कोरोना वायरस संक्रमित यात्री को ट्रेन में सफर करते हुए पकड़ा है. इनमें से 8 यात्रियों ने एपी संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से 13 मार्च को दिल्ली से रामाकुंडम की यात्रा की थी. दुबई से लौटे 4 लोगों ने 16 मार्च को गोदान एक्सप्रेस से मुंबई से जबलपुर की यात्रा की थी. रेलवे ने लोगों ने अपील की है कि बहुत ही ज्यादा जरूरी न हो तो पैसेंजर या लंबी दूरी की ट्रेनों से यात्रा करने से बचें.

देशभर में हजारों ट्रेनें हो चुकी हैं कैंसिल
कोरोना वायरस के फैलाव के ट्रेनों का कैंसिल होने का सिलसिला लगातार जारी है. उत्तर पश्चिम रेलवे (North Western Railway) ने शनिवार को 48 और ट्रेनें रद्द करने की घोषणा कर दी है. NWR 21 ट्रेनें पहले ही रद्द कर चुका है. NWR अब तक कुल 69 ट्रेनें रद्द कर चुका है. इसके अलावा देशभर में 2400 पैंसजर ट्रेनें और 1300 एक्सप्रेस ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. इन्हें फिलहाल 31 मार्च तक बंद किया गया है.

रेलवे ने ​बदला टिकट कैंसिल रिफंड नियम
कोरोना वायरस को लेकर सरकार द्वारा एडवाइजरी जारी करने के बाद अब इंडियन रेलवे (Indian Railway) ने भी अपने ग्राहकों को बड़ी राहत दी है. रेलवे स्टेशन और रिजर्वेशन काउंटर पर भीड़ कम करेन के​ लिए रेलवे ने​ टिकट रिफंड​ सिस्टम में कई बदलाव किए हैं. e-Ticket कैंसिलेशन और रिफंड के किसी भी नियम में बदलाव नहीं किया गया है. टिकट रिफंड रूल्स में यह नियम 21 मार्च से लेकर 15 अप्रैल 2020 के लिए लागू होगा. अगर कोई पैसेंजर टेलिफोन नंबर 139 की मदद से अपना टिकट कैंसिल करता है तो वह यात्रा के दिन से 30 दिनों के अंदर टिकट काउंटर से रिफंड प्राप्त कर सकता है. भारतीय रेलवे ने अपने यात्रियों से अपील की है कि कोरोना वायरस आपदा को देखते हुए अत्यंत आवश्यक न होने पर रेलवे स्टेशन पर आने से बचें.

ये भी पढ़ें: कोरोना के डर से अगर बंद की म्युचूअल फंड्स SIP, तो हो सकता है बड़ा नुकसान!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 22, 2020, 12:13 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर