• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • इंडियन रेलवे ने कहा- अब स्‍टेशनों पर यात्रियों से वसूले जाएंगे एयरपोर्ट की तरह शुल्‍क

इंडियन रेलवे ने कहा- अब स्‍टेशनों पर यात्रियों से वसूले जाएंगे एयरपोर्ट की तरह शुल्‍क

कोरोना के बाद  भी AC कोच में रेल यात्रियों को नहीं मिलेंगे कंबल

कोरोना के बाद भी AC कोच में रेल यात्रियों को नहीं मिलेंगे कंबल

भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम लिमिटेड (IRSDC) का कहना है कि आधुनिक (Modern) और पुनर्विकसित (Re-Developed) रेलवे स्टेशनों पर उपयोग शुल्क (Usage Charges) बाजार आधारित होंगे. इस शुल्‍क को टिकट में शामिल किया जाएगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (IRSDC) ने कहा है कि पुनर्विकसित (Re-Developed) आधुनिक रेलवे स्टेशनों (Modern railway Stations) पर यात्री उपयोग शुल्क बाजार आधारित होंगे. इससे पहले भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने कहा था कि पुनर्विकास करने वाली निजी इकाइयां स्टेशनों के लिए यात्रियों से हवाईअड्डे (Airport) की तरह शुल्क वसूलेंगी, जो टिकट में शामिल होगा.

    'उपयोग शुल्‍क बाजार की वास्‍तविकताओं के मुताबिक बदलने चाहिए'
    भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने कहा था कि ये शुल्क स्टेशनों पर आने वाले यात्रियों की संख्या पर निर्भर करेगा. हालांकि, आईआरएसडीसी के प्रबंधन निदेशक व सीईओ एसके लोहिया (SK Lohia) ने मंगलवार को कहा कि खर्च ऊपर जा सकते हैं और कम भी हो सकते हैं. इसलिए यात्री उपयोग शुल्क (Usage Fee) स्थिर नहीं हो सकता. अगर हम किसी को 60 साल के लिए कोई स्टेशन दे रहे हैं तो शुल्क बाजार की वास्तविकताओं के मुताबिक कम-बढ़ होने चाहिए. अगर महंगाई (Inflation) कम होती है तो शुल्क नीचे भी आ सकते हैं.

    ये भी पढ़ें- Microsoft इंटरनेट एक्सप्लोरर और लीगेसी एज को करेगी बंद, दुनियाभर में इतने लोगों पर पड़ेगा असर

    केंद्र 50 स्‍टेशनों के पुनर्विकास के लिए आमंत्रित करने वाली है निविदा
    लोहिया ने कहा कि उपयोग शुल्क पर सहमति बनी है. रेल मंत्रालय की ओर से इसे अधिसूचित करने की प्रक्रिया जारी है. उपयोग शुल्क से राजस्व की एक निश्चित सीमा है. राजस्‍व में हवाई अड्डे, राजमार्ग और रेलवे स्‍टेशन के उपयोग शुल्क का बड़ा हिस्‍सा होता है. परियोजना लागत का 99 फीसदी उपयोग शुल्‍क से ही वूसला जाता है. उन्होंने कहा कि हवाई अड्डों की तुलना में रेलवे स्‍टेशनों में उपयोग शुल्क कम होगा. सरकार आईआरएसडीसी के जरिये 50 स्टेशनों के पुनर्विकास के लिए निविदा आमंत्रित करने की तैयारी में है, जिससे 2020-21 में लगभग 50,000 करोड़ रुपये का निवेश होगा.

    ये भी पढ़ें- खास मौकों पर गिफ्ट करें एसबीआई जनरल इंश्‍योरेंस का शगुन, पर्सनल एक्‍सीडेंट में देगा वित्‍तीय सुरक्षा

    IRSDC ने प्राइवेट पार्टनर्स को दी हैं दो स्‍टेशनों की विकास योजना
    आईआरएसडीसी ने दो रेलवे स्टेशनों मध्य प्रदेश में हबीबगंज और गुजरात के गांधीनगर को सार्वजनिक-निजी भागीदारी (PPP) योजनाओं के तहत विकसित करने के लिए निजी भागीदारों को सौंप दिया था. यह काम दिसंबर 2020 तक पूरा करने की योजना है. गांधीनगर रेलवे स्टेशन पर 94.05 फीसदी सिविल कार्य पूरा हो चुका है, जबकि हबीबगंज में परियोजना अब तक 90 फीसदी से ज्‍यादा पूरी हो चुकी है. हालांकि, कोविड-19 के कारण दोनों परियोजनाओं का तय समय पर पूरा हो पाना करीब-करीब मुश्किल लग रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज