अपना शहर चुनें

States

Indian Railways चला रहा है 65 फीसदी तक ट्रेनें, जाने आगे क्या है रेलवे की रणनीति

रेलवे ज्‍यादा से ज्‍यादा ट्रेनें चलाने के लिए लगातार हालात की समीक्षा कर रहा है.
रेलवे ज्‍यादा से ज्‍यादा ट्रेनें चलाने के लिए लगातार हालात की समीक्षा कर रहा है.

भारतीय रेलवे (Indian Railways) के मुताबिक, कोरोना संकट से पहले हर दिन 1,768 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें पटरियों पर दौड़ रही थीं. कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) और बढ़े हुए रिकवरी रेट को देखते हुए रेलवे एहतियात बरतते हुए पैसेंजर ट्रेनों (Passenger Trains) की संख्या बढ़ा रहा है. जनवरी 2021 में ही 115 जोड़ी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने की मंजूरी दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 9:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस ने ना सिर्फ कारोबारी गतिविधियों, आर्थिक विकास और जनजीवन को प्रभावित किया, बल्कि इसकी वजह से लगाए गए लॉकडाउन ने भारतीय रेलवे (Indian Railways) को भी भारी नुकसान पहुंचाया. कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए रेलवे ने अपनी सभी पैसेंजर ट्रेनों (Passenger Trains) को अस्थायी तौर पर रद्द कर दिया था. देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे लोगों को उनके शहरों तक पहुंचाने के लिए रेलवे ने चरणबद्ध तरीके से पैसेंजर ट्रेनों को ट्रैक पर लौटाया. आज भी कोरोना काल की चुनौतियों के बीच रेलवे 1138 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों (Express Trains) का परिचालन कर रहा है.

रेलवे ज्‍यादा ट्रेनें चलाने के लिए कर रहा समीक्षा
कोरोना संकट (Coronavirus Crisis) के पहले की स्थिति के मुकाबले रेलवे आज 65 फीसदी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें चला रहा है. वैश्विक महामारी में भारतीय रेलवे देश के सभी अहम स्थानों तक ट्रेन नेटवर्क को सक्रिय किए हुए है. इससे अधिक ट्रेनें चलाने के लिए भारतीय रेलवे लगातार समीक्षा कर रहा है. रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक, कोरोना संकट से पहले हर दिन 1,768 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें पटरियों पर दौड़ रही थीं. कोरोना वैक्सीनेशन (Vaccination) और बढ़े हुए रिकवरी रेट को देखते हुए रेलवे सभी तरह की एहतियात बरतते हुए पैसेंजर ट्रेनों की संख्या बढ़ा रहा है. जनवरी 2021 में ही 115 जोड़ी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने की मंजूरी दी गई है.

ये भी पढ़ें- 8 साल पुराने वाहनों के मालिकों को झटका! नितिन गडकरी ने Green Tax प्रस्‍ताव को दी मंजूरी, जानें कितना लगेगा चार्ज
देश में उपनगरीय ट्रेनें भी चलाई जा रही हैं


राज्यों और रेल प्रशासन के बीच स्वस्थ्य समन्वय के बाद भारतीय रेलवे कई राज्यों में उपनगरीय ट्रेनों का परिचालन भी कर रहा है. रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक, कोरोना काल में 4,807 सब अर्बन ट्रेनें चलाई जा रही हैं, जबकि कोरोना से पहले भारतीय रेलवे कुल 5,881 सब अर्बन ट्रेनों का परिचालन कर रही थी. इसके अलावा भारतीय रेलवे 196 पैसेंजर ट्रेनों से यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने का काम कर रही है. कोरोना संकट से पहले देशभर में रेलवे 3634 पैसेंजर ट्रेनें चला रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज