• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • INDIAN RAILWAYS MINISTRY OF RAILWAYS CLARIFIES THAT ALL EXPRESS TRAINS INCLUDING FESTIVAL SPECIALS TO RUN ONLY AS FULLY RESERVED TRAINS ONLY UNRESERVED TICKETS CLONE TRAIN FESTIVAL SPECIAL TRAINS ACHS

रेल मंत्रालय ने किया साफ, अभी नहीं मिलेंगे अनारक्षित टिकट, फिलहाल चलेंगी सिर्फ पूरी तरह आरक्षित ट्रेनें

रेल मंत्रालय ने साफ कर दिया है कि अभी रेलवे अनारक्षित टिकट जारी नहीं करेगा.

रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) ने बताया कि अभी कुछ जोन में सब-अर्बन (Sub-Urban Trains) और सीमित संख्‍या में लोकल पैसेंजर ट्रेनों (Local Passenger Trains) के यात्रियों के लिए अनारक्षित टिकट (Unreserved Tickets) जारी करने की मंजूरी दी गई है. इसके अलावा सभी क्‍लोन व फेस्टिवल स्‍पेशल और एक्‍सप्रेस ट्रेनों के यात्रियों को सिर्फ रिजर्वेशन कैटेगरी के टिकट ही जारी किए जाएंगे.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने अनारक्षित टिकट जारी (Unreserved Tickets) करने को लेकर आई खबरों को नकारते हुए स्‍पष्‍ट किया कि सभी एक्‍सप्रेस, क्‍लोन और फेस्टिवल स्‍पेशल ट्रेनों के परिचालन की नीति में अभी कोई बदलाव नहीं किया गया है. फिलहाल सभी ट्रेनें पूरी तरह आरक्षित ट्रेनों (Fully Reserved Trains) की तरह ही चलेंगी. रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) ने बताया कि जोन रेलवे को अनारक्षित टिकट जारी करने की छूट दी गई है. इसके तहत कुछ जोन में सिर्फ सब-अर्बन (Sub-Urban Trains) और सीमित लोकल पैसेंजर ट्रेनों के यात्रियों को अनारक्षित टिकट जारी किए जाएंगे.

    मंत्रालय ने कहा- सिर्फ पूरी तरह आरक्षित ट्रेनें चलेंगी
    रेल मंत्रालय ने कहा कि अभी तक की नीति के मुताबिक, फिलहाल सभी मेल एक्‍सप्रेस स्‍पेशल ट्रेनें, फेस्टिवल स्‍पेशल और क्‍लोन स्‍पेशल ट्रेनें पूरी तरह से आरक्षित ट्रेनों की तरह चलाई जा रही हैं. दूसरे शब्‍दों में इन ट्रेनों के लिए फिलहाल सिर्फ आरक्षित श्रेणी के टिकट (Reserved Tickets) ही जारी किए जा रहे हैं. अभी कुछ जोन में सिर्फ सब-अर्बन और सीमित संख्‍या में लोकल पैसेंजर ट्रेनों (Local Passenger Trains) के यात्रियों के लिए अनराक्षित टिकट (Unreserved Tickets) जारी करने की अनुमति है.

    ये भी पढ़ें- सोने में 7600 रुपये से ज्‍यादा की गिरावट, अभी और गिरेंगे दाम, जानें क्‍यों घट रही हैं कीमतें

    यात्रा नियमों में लगातार बदलाव कर रहा है रेलवे
    कोरोना संकट (Coronavirus Crisis) के बीच मंत्रालय ने कहा कि ट्रेनों के परिचालन, यात्रा नियमों और रिजर्वेशन के तरीकों में लगातार बदलाव किया जा रहा है. आगे भी होने वाले सभी तरह के बदलावों की जानकारी सार्वजनिक की जाती रहेगी. बता दें कि इस समय रेलवे 736 स्‍पेशल ट्रेनें चला रहा है. इसके अलावा कोलकाता मेट्रो (Kolkata Metro) की 200 सर्विसेस, 2000 से ज्‍यादा मुंबई (Mumbai) सब-अर्बन सर्विसेस और 20 क्‍लोन स्‍पेशल ट्रेनें भी चलाई जा रही हैं. भारतीय रेलवे ने 24 मार्च को लॉकडाउन (Lockdown) की शुरुआत के साथ ही सभी पैसेंजर ट्रेनें (Passenger Trains) अगले आदेश तक के लिए निलंबित कर दी थीं.

    ये भी पढ़ें- बजट 2021 में खर्च बढ़ाने का ऐलान करेगी सरकार! देश की अर्थव्‍यवस्‍था को संभालने पर रहेगा केंद्र का जोर

    गुजरात में 107 साल पुरानी रेल लाइन होगी बंद
    वहीं, दक्षिण गुजरात में 107 साल से चल रही रेलवे की एक छोटी लाइन ट्रेन सेवा बंद होने के आसार बन रहे हैं. यह लाइन बिलीमोरा-वाघई का हेरिटेज रेलवे रूट है. यह रूट वेस्टर्न रेलवे जोन की उन 11 ब्रांच रेल लाइनों में एक है, जिन्हें रेल मंत्रालय बिना लाभ वाली लाइन मानता है. रेल मंत्रालय ने हाल में इन्हें हमेशा के लिए बंद करने का आदेश दिया है. बिलीमोरा-वाघई छोटी लाइन ट्रेन सेवा को अंग्रेजों ने 1913 में शुरू किया था. इसका इस्तेमाल ज्यादातर आदिवासी करते थे. कोविड-19 महामारी के आने के बाद इस छोटी लाइन ट्रेन सेवा को नुकसान हुआ है.