RailTel IPO: आखिरी दिन तक 42 गुना से ज्‍यादा हुआ सब्सक्राइब, 259 करोड़ इक्विटी शेयर के लिए लगी बोली, जानें सबकुछ

RailTel के IPO के लिए तीन दिन में इंवेसटर्स से 250 करोड़ से ज्‍यादा इक्विटी शेयर के लिए बोलियां मिलीं.

केंद्र सरकार रेलटेल में आईपीओ के जरिये (RailTel IPO) अपनी 27 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है. इस आईपीओ से जुटाई गई पूरी रकम सरकार को मिलेगी. दूसरे शब्‍दों में समझें तो आईपीओ से जुटने वाली रकम कंपनी के खाते में नहीं जाएगी.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. इंफॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशंस टेक्नोलॉजी (ICT) मुहैया कराने वाली कंपनी रेलटेल कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया का आइर्रपीओ (RailTel IPO) 18 फरवरी 2021 को बंद हो गया. कंपनी का आईपीओ 16 फरवरी 2021 को खुला था. तीन दिन के बाद कंपनी का आईपीओ 42.39 गुना सब्सक्राइब (IPO Subscription) हुआ. कंपनी ने 6.11 करोड़ शेयरों के साथ आईपीओ जारी किया था. वहीं, निवेशकों ने 259.4 करोड़ इक्विटी शेयरों (Equity Shares) के लिए बोली लगाई है. क्‍वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIB) के लिए रिजर्व हिस्सा 65.14 गुना सब्सक्राइब हुआ है.

    रेलटेल के आईपीओ का गैर-संस्थागत निवेशकों (Non-Institutional Investors) के लिए आरक्षित रखे गए हिस्‍से को 73.25 गुना बोलियां मिली हैं. इसके अलावा रिटेल इनवेस्टर्स ने 16.79 गुना बोली लगाई है. वहीं, कर्मचारियों के लिए रिजर्व रखा गया पोर्शन 3.36 गुना सब्सक्राइब हुआ है. आईपीओ में एंकर बुक से जुटाया गया हिस्सा शामिल नहीं है. कंपनी ने पहले ही एंकर इंवेस्‍टर्स से 244 करोड़ रुपये जुटा लिए थे. कंपनी के शेयर का प्राइस बैंड 93-94 रुपये हैः सरकार इस कंपनी में अपनी 27 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है. इस आईपीओ से जुटाई गई पूरी रकम सरकार को मिलेगी. कंपनी के खाते में कुछ नहीं आएगा.

    ये भी पढ़ें- अमेरिकी आईटी कंपनी भारत में देगी बंपर नौकरियां, 10 हजार लोगों को देगी इंटर्नशिप भी

    IPO के बारे में जरूरी बातें
    >> आईपीओ का प्राइस बैंड 93-94 रुपये प्रति शेयर तय किया गया है.
    >> आईपीओ के तहत 8,71,53,369 शेयर ऑफर फॉर सेल के जरिये बेचे जाएंगे.
    >> ऑफर के जरिये सरकार की 819.24 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है.
    >> ऑफर का लॉट साइज 155 इक्विटी शेयर है.
    >> इस आईपीओ में कम से कम 14,570 रुपये लगाने थे.
    >> निवेशक अधिकतम 13 लॉट साइज के लिए बोली लगा सकते थे.

    रेलटेल IPO का लॉट साइज
    रेलटेल के आईपीओ का एक लॉट 155 शेयर का है. एक रिटेल इंवेस्टर कम से कम 1 लॉट के लिए आवेदन कर सकता था, जबकि इंवेस्टर्स मैक्सिमम 13 लॉट के लिए बोली लगाई जा सकती थी. दूसरे शब्‍दों में कहें तो इस आईपीओ में कम से कम 14,570 रुपये लगाने थे. रेलटेल कॉरपोरेशन भारतीय रेलवे का उपक्रम है. यह इंफॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी इन्फ्रास्ट्रक्चर मुहैया कराती है. यह भारत की सबसे बड़ी न्यूट्रल टेलिकॉम इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइडर कंपनी है. कंपनी सितंबर 2000 में शुरू की गई थी. कंपनी का मकसद ट्रेनों के नियंत्रण संचालन, सुरक्षा और देश भर में ब्रॉडबैंड और मल्टीमीडिया नेटवर्क सुविधाएं उपलब्ध कराकर अतिरिक्त आय अर्जित करना है. यह रेलवे मंत्रालय के तहत काम करती है.

    ये भी पढ़ें- Gold Price Today: गोल्‍ड के दाम में फिर तेज गिरावट, खरीदारी का है अच्‍छा मौका, दे सकता है तगड़ा मुनाफा

    सितंबर 2020 तिमाही में मुनाफा
    रेलवे की इस कंपनी की आर्थिक हालत की बात करें तो सितंबर 2020 में खत्म हुई तिमाही में कंपनी की कुल एसेट्स 2,482 करोड़ रुपये के करीब थी. इसके अलावा कंपनी का राजस्‍व 554 करोड़ रुपये के करीब था. कंपनी का मुनाफा करीब 46 करोड़ रुपये रहा था. साल 2021 का यह छठा आईपीओ है. बता दें कि अब तक आईआरएफसी, इंडिगो पेंट्स, होम फर्स्‍ट फाइनेंस, स्टोव क्राफ्ट और ब्रूकफील्ड इंडिया रीयल एसटेट ट्रस्ट के आइपीओ आ चुके हैं. वहीं, 15 फरवरी को न्यूरेका लिमिटेड का आईपीओ आने की तैयारी में है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.