• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • रेलवे ने घटाईं कई यात्री सुविधाएं! अब AC कोच के पैसेंजर्स को साथ लाना होगा अपना कंबल-चादर

रेलवे ने घटाईं कई यात्री सुविधाएं! अब AC कोच के पैसेंजर्स को साथ लाना होगा अपना कंबल-चादर

त्यौहारी सीजन से पहले Railway ने दी बड़ी सौगात, 392 फेस्टिवल ट्रेन चलेंगी

त्यौहारी सीजन से पहले Railway ने दी बड़ी सौगात, 392 फेस्टिवल ट्रेन चलेंगी

कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण लोगों के यात्रा करने के तरीकों (Modes of Travel) में काफी बदलाव आया है. इसी क्रम में अब ट्रेन का सफर भी आसान नहीं रह गया है. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने यात्रियों को संक्रमण से बचाने के लिए कई तरह की सुविधाएं (Passengers Amenities) खत्‍म कर दी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) प्रकोप के कारण लोगों की यात्रा करने की आदतों और तरीकों में काफी बदलाव आया है. अब लोग साफ-सफाई की ज्‍यादा मांग (Hygiene Demand) करने लगे हैं. ऐसे में भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने यात्रियों को कोविड-19 से बचाने के लिए अब तक मिलने वाली कई सुविधाएं (Facilities) खत्‍म कर दी हैं यानी ट्रेन का सफर भी अब आसान नहीं रह जाएगा. भारतीय रेलवे ने सफाई के मद्देनजर एसी कोच में मिलने वाले कंबल और चादरों पर रोक लगा दी है. आसान शब्‍दों में समझें तो अब एसी कोच के यात्रियों को घर से अपना कंबल और चादर (Blanket-Linen Sheet) लेकर ट्रेन के सफर पर निकलना होगा.

    खाना और पानी की इंतजाम भी यात्रियों को खुद ही करना होगा
    रेलवे बोर्ड के चीफ वीके यादव के मुताबिक, कोरोना वायरस को लेकर हालात सुधारने के बाद भी एसी कोच के यात्रियों को अपना कंबल और चादर लेकर चलना होगा. उन्‍होंने कहा कि रेलवे ने यात्रा के दौरान सफाई मानकों (Hygiene Standard) का सख्‍ती से पालन करने के मद्देनजर ये फैसला लिया है. इसके अलावा अब यात्रियों को ट्रेन में पका भोजन (On-Board Cooked Food) भी उपलब्‍ध नहीं कराया जाएगा. ट्रेन में यात्रियों को केवल तैयार भोजन, पैक्‍ड पानी और चाय-कॉफी ही मिलेगी. वहीं, कुछ ट्रेनों में पैक्‍ड फूड आइटम भी उपलब्‍ध कराए जाएंगे. बिना पैंट्री कार वाली ट्रेनों में यात्रियों को खाने और पानी का इंतजाम भी खुद करना होगा.

    ये भी पढ़ें- समय पर फाइल करें ITR, नहीं तो जुर्माना भरने के साथ ही कई तरह की छूट का नहीं मिलेगा फायदा

    बिना सुविधाओं के हवाई किराया देकर ट्रेन का सफर क्‍यों करेंगे यात्री
    रेलवे ने 5 सितंबर से 80 नई स्‍पेशल ट्रेन (Special Trains) चलाने का ऐलान किया तो ये सवाल उठा कि आखिर क्‍यों यात्री बिना किसी सुविधा के हवाई टिकट (Air Fair) के बराबर किराया चुकाकर ट्रेन का सफर करेंगे. रेलवे बोर्ड के पूर्व चेयरमैन आरके सिंह ने माना कि कोरोना संकट के कारण इंडियन रेलवे के सामने कई तरह की चुनौतियां खड़ी हो गई हैं. उन्‍होंने कहा कि देश में हर दिन नए कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में लोगों को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच रेलवे यात्रियों की मांग को पूरा करने की भरसक कोशिश कर रहा है. रेलवे सफाई पर पूरा जोर दे रहा है. ट्रेनों को सैनिटाइज किया जा रहा है.

    ये भी पढ़ें- अब इस सेक्‍टर में चीन को झटका देगा भारत, छीनेगा 7.3 लाख करोड़ रुपये का बिजनेस

    'त्‍योहारी साजन में बढ़ने वाली मांग को देखते हुए शुरू कीं स्‍पेशल ट्रेन'
    सिंह ने कहा कि देश के 80 से 85 फीसदी यात्रा के लिए ट्रेन सेवा पर निर्भर हैं. वहीं, हवाई यात्रा पर कई तरह की पाबंदियों के चलते ट्रेनों पर लोगों की निर्भरता ज्‍यादा बढ़ गई है. भारतीय रेलवे ने 80 नई स्‍पेशल ट्रेनें शुरू कर ट्रांसपोर्ट सुविधा को सामान्‍य हालत में लाने की पहल की है. इससे हालात में धीरे-धीरे सुधार करने में मदद मिलेगी. उम्‍मीद है कि जल्‍द ही सामान्‍य सेवाएं भी शुरू हो जाएंगी. सिंह का मानना है कि रेलवे ने त्‍योहारी सीजन के दौरान बढ़ने वाली मांग को ध्‍यान में रखकर स्‍पेशल ट्रेन शुरू की हैं. कोरोना वायरस के खत्‍म होने तक हवाई और ट्रेन यात्रा के बीच मानकों में बहुत फर्क आ चुका होगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज