रेलवे का बड़ा फैसला- 2 अक्टूबर तक लगे प्लास्टिक से बने सामानों पर रोक

Chandan Kumar | News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 4:06 PM IST
रेलवे का बड़ा फैसला- 2 अक्टूबर तक लगे प्लास्टिक से बने सामानों पर रोक
रेलवे में प्लास्टिक बैग के इस्तेमाल पर लगी पाबंदी

रेल मंत्रालय (Railway Ministry) ने रेलवे में प्लास्टिक (Plastic) और पॉलिथिन बैग (Polythene Bag) के इस्तेमाल पर फौरन हर संभव रोक लगाने के निर्देश दिए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 21, 2019, 4:06 PM IST
  • Share this:
रेल मंत्रालय (Railway Ministry) ने रेलवे में प्लास्टिक (Plastic) और पॉलिथिन बैग (Polythene Bag) के इस्तेमाल पर फौरन हर संभव रोक लगाने के निर्देश दिए हैं. रेल बोर्ड (Railway Board) ने अपने निर्देश में कहा है कि 2 अक्टूबर तक रेलवे को प्लास्टिक (Plastic) से बने सामानों पर नियमों के तहत पूरी पाबंदी लगानी है. 2 अक्टूबर यानी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती (Gandhi Jayanti ) के दिन सभी रेल कर्मियों को प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने की शपथ भी दिलाई जाएगी.

सिंगल यूज प्लास्टिक पर पाबंदी
रेलवे बोर्ड के आदेश के मुताबिक रेलवे में सिंगल यूज़ प्लास्टिक पर तुरंत प्रभाव से पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई है. इसमें रेलवे के सभी वेंडर्स को प्लास्टिक के कैरी बैग का इस्तेमाल बंद करने लिए जागरुक करने को कहा गया है. रेलवे के सभी स्टाफ को प्लास्टिक के इस्तेमाल को कम करने के लिए जागरुक करने के कहा गया है. इसके लिए दोबारा इस्तेमाल में आने वाला पर्यावरण के अनुकूल बैग (Eco-friendly Bag) का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है.

प्लास्टिक बोतलों को तोड़ने वाली लगेगी मशीन

बोर्ड ने IRCTC को भी निर्देश दिया है कि वो प्लास्टिक बोतलों को इस्तेमाल के बाद वापस इकट्ठा करे. इसमें कहा गया है कि इस तरह के कूड़े को इकट्ठा करना भी बोतल बनाने वालों की ज़िम्मेदारी है. प्लास्टिक बोतलों को मशीन से तोड़कर ख़त्म करने के लिए ऐसी मशीनों को बड़ी संख्या में इस्तेमाल करने की भी सलाह रेल मंत्रालय ने दी है.

ये भी पढ़ें: Vande Bharat Express: नई दिल्ली से कटरा के बीच हफ्ते में 5 दिन चलेगी, यहां जानें किराए से लेकर पूरा टाइम टेबल

50 माइक्रोन्स से कम के नहीं होने चाहिए प्लास्टिक बैग
Loading...

रेलवे बोर्ड ने साफ कहा है कि भारतीय रेल को कूड़ा उत्पादक के तौर पर जाना जाता रहा है. इसलिए प्लास्टिक और पॉलिथिन बैग को लेकर 2016 में जो नियम बने हैं उन्हें फ़ौरन लागू किया जाए. इस नियम के तहत एक बार इस्तेमाल में आने वाले प्लास्टिक बैग 50 माइक्रोन्स से कम के नहीं होने चाहिए. लेकिन रेलवे में मुसाफिरों से लेकर ट्रेन और प्लेटफॉर्म पर सामान बेचने वाले बड़ी संख्या में ऐसे पॉलिथिन बैग का इस्तेमाल करते हैं.

इसलिए रेलवे ने आदेश जारी करने के साथ ही हर किसी को प्लास्टिक के इस्तेमाल से होने वाले नुकसान के बारे में भी जागरुकता फैलाने पर जोर दिया है.

ये भी पढ़ें: नौकरी करने वालों के लिए खुशखबरी! दोगुनी पेंशन समेत इन दो बड़े फैसलों पर आज लग सकती है मुहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 3:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...