रेल यात्रियों के लिए बड़ी खबर! बिहार-झारखंड समेत इन राज्‍यों से 100 नई स्‍पेशल ट्रेनें शुरू करेगा रेलवे

भारतीय रेलवे की कमाई में 43 फीसदी की कमी आई है. इसलिए रेलवे 100 नई स्‍पेशल ट्रेनें शुरू करने की येाजना बना रहा है.
भारतीय रेलवे की कमाई में 43 फीसदी की कमी आई है. इसलिए रेलवे 100 नई स्‍पेशल ट्रेनें शुरू करने की येाजना बना रहा है.

भारतीय रेलवे (Indian Railways) पर आमदनी में इजाफा करने का दबाव लगातार बढ़ रहा है. दरअसल, कोविड-19 की वजह से पिछले साल के मुकाबले रेलवे की कमाई (Income) करीब 43 फीसदी कम हो गई है. इसमें सबसे बड़ा नुकसान यात्री ट्रेनों (Passenger Trains) से होने वाली कमाई में हुआ है. इसलिए ज्‍यादा मांग वाले रूट्स पर नई स्‍पेशल ट्रेनें (Special Trains) चलाने का फैसला किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 10:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) आमदनी में इजाफा करने के दबाव के बीच 100 नई स्पेशल ट्रेनें (Special Trains) शुरू कर सकता है. दरअसल, कोविड-19 और लॉकडाउन के कारण रेलवे की कमाई (Income) में पिछले साल के मुकाबले करीब 43 फीसदी की कमी हो गई है. इसमें सबसे बड़ा नुकसान यात्री ट्रेनों (Passenger Trains) से होने वाली कमाई में हुआ है. अगस्त 2020 तक रेलवे को मालगाड़ियों (Goods Trains) से आम तौर पर होने वाली कमाई में से करीब 87 फीसदी तक की आमदनी हुई है यानी सिर्फ 13 फीसदी आय का नुकसान हुआ है.

अगस्‍त 2020 में 1.2% यात्रियों ने किया ट्रेन से सफर
रेलवे के मुताबिक, अगस्त 2019 के मुकाबले अगस्त 2020 में केवल 1.2 फीसदी यात्रियों ने ही ट्रेन से सफर किया है. इसकी सबसे बड़ी वजह लॉकडाउन के दौरान ट्रेनों का बंद रहना है. अभी भी रेलवे की महज 350 ट्रेनें ही पटरी पर हैं, जबकि आम दिनों में ये संख्या 12 हजार तक होती है. हालांकि, इन ट्रेनों में भी दर्जनों खाली ही चल रही हैं. इन ट्रेनों का ही खाली चलना रेलवे के लिए बड़ा झटका है. कुछ रूट्स पर ट्रेनों की मांग बढ़ने पर रेलवे ने 20 जोड़ी क्लोन ट्रेनें (Clone Train) भी शुरू कीं, लेकिन ये हमसफर ट्रेन हैं. इनका किराया आम ट्रेनों से ज्‍यादा होता है. इसलिए इन ट्रेनों को लेकर लोगों में ज्‍यादा उत्साह नहीं दिख रहा है. इससे रेलवे के क्लोन ट्रेन कांसेप्‍ट को भी झटका लगा है.

ये भी पढ़ें- यूपी सरकार फूड प्रो​सेसिंग सेक्‍टर के लिए जुटाएगी 15,000 करोड़ का नया निवेश! जल्‍द आएगी मेगापॉलिसी
रेलवे की कोशिश, कोई भी ट्रेन नहीं जाए खाली


अब रेलवे ने त्योहारों के दौरान कुछ नई स्‍पेशल ट्रेनें शुरू करने की योजना बनाई है. हर ट्रेन शुरू करने के पीछे कोशिश यही होगी कि ट्रेन खाली ना जाए. इसलिए ऐसे रूट पर ट्रेनें शुरू की जाएंगी, जहां सकी मांग बहुत ज्‍यादा है. सूत्रों के मुताबिक, इनमें ज्यादातर ट्रेनें बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों से दिल्ली, मुंबई, सिकंदराबाद, नागपुर, अमृतसर और बेंगलुरु जैसे बड़े शहरों के लिए होंगी. स्‍पेशल ट्रेनों में नई दिल्ली-राजेंद्र नगर, नई दिल्ली-भागलपुर, नई दिल्ली-राजगीर, अमृतसर-नागपुर शामिल हो सकती है. वहीं, नई दिल्ली-सहरसा, आनंद विहार-मुजफ्फरपुर, नई दिल्ली-जयनगर, नई दिल्ली-दरभंगा स्‍पेशल ट्रेन भी शुरू की जा सकती हैं.

ये भी पढ़ें- 40 करोड़ लोगों के रोजगार पर संकट, रिटेल सेक्‍टर को स्‍पेशल पैकेज दे केंद्र सरकार: CAIT

रेलवे 100 नई स्‍पेशल ट्रेनें कर सकता है शुरू
रेलवे के सूत्रों के मुताबिक, अृमतसर-जयनगर, आनंद विहार-रक्सौल, दिल्ली-गया, दिल्ली-नागपुर, नई दिल्ली-वाराणसी, नई दिल्ली-गाजीपुर सिटी और अमृतसर-कोलकाता स्‍पेशल ट्रेन शुरू करने की योजना भी है. इन शहरों के बीच भारी मांग की वजह से नई स्पेशल ट्रेन शुरू की जा सकती हैं. इन स्‍पेशल ट्रेनों की संख्‍या 100 के करीब हो सकती है. रेलवे स्‍पेशल ट्रनों की मदद से पैसेंजर ट्रैफिक बढ़ाना है. इस समय हालत ऐसी है कि लोग दिल्ली से लखनऊ, कानपुर और प्रयागराज तक ट्रेन के बजाय दूसरी गाड़ियों से सफर को ज्‍यादा सुरक्षित मान रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज