Home /News /business /

indian start ups may see over 60000 job losses in 2022 led by edtech and e com warns report mlks

भारतीय स्टार्टअप्स ने अब तक निकाले 12,000 लोग, इस साल छीन लेंगे 60,000 नौकरियां!

अकेले इसी साल मतलब 2022 में ही भारत में 60,000 से अधिक जॉब्स जा सकती हैं.

अकेले इसी साल मतलब 2022 में ही भारत में 60,000 से अधिक जॉब्स जा सकती हैं.

आईएएनएस की रिपोर्ट के हवाले से लिखा CNBC ने लिखा है कि एडटेक (edtech) और ई-कॉमर्स (e-commerce) में सबसे ज्यादा नौकरियां जाने की आशंका है. अकेले इसी साल मतलब 2022 में ही भारत में 60,000 से अधिक जॉब्स जा सकती हैं.

नई दिल्ली. भारत में पिछले 2-3 सालों से स्टार्टअप कल्चर का काफी बोल-बाला है. स्टार्टअप काम करने के लिए कूल जगह माने जाते हैं. लेकिन एक ताजा रिपोर्ट स्टार्टअप्स को लेकर एक बुरी खबर लाई है. इस रिपोर्ट के मुताबिक, अकेले इसी साल मतलब 2022 में ही भारत में 60,000 से अधिक जॉब्स जा सकती हैं.

सीएनबीसी ने आईएएनएस की रिपोर्ट के हवाले से लिखा है कि एडटेक (edtech) और ई-कॉमर्स (e-commerce) में सबसे ज्यादा नौकरियां जाने की आशंका है. रिपोर्ट के मुताबिक, ओला, ब्लिंकिट, BYJU’s (वाइट हैट जूनियर, टॉपर), अनअकैडमी, वेदांतु, Cars24, मोबाइल प्रीमियर लीग (MPL), लिडो लर्निंग, Mfine, ट्रेल, farEye और Furlanco जैसी कई कंपनियां अब तक लगभग 12,000 कर्मचारियों को बाहर का दरवाजा दिखा चुकी हैं.

ये भी पढ़ें – हर घर में इस्तेमाल होने वाले इस प्रोडक्ट के बिजनेस से होती है लाखों की कमाई, यूं करें शुरू

फंडिंग मिल रही है लेकिन लोग निकाले जा रहे
इस रिपोर्ट में इंडस्ट्री के एक्सपर्ट्स के हवाले से लिखा गया है कि री-स्ट्रक्चरिंग और कॉस्ट मैनेजमेंट (restructuring and cost management) के नाम पर इस साल कम से कम 50,000 कर्मचारियों को निकाला जा सकता है. यह बात अलग है कि इन स्टार्टअप्स को लाखों-करोड़ों में फंडिंग भी मिल रही है.

ऐसे स्टार्टअप्स लोगों को निकालने का काम सबसे पहले करेंगे, जो कोरोना महामारी के समय सबसे ज्यादा लाभ में रहे या फले-फूले थे. इसका कारण यह बताया गया है कि फिलहाल ऐसे स्टार्टअप वैल्यूएशन के कारण भारी दबाव में हैं और फंड जुटाना अब पहले के मुकाबले काफी मुश्किल हो गया है.

अमेरिका में प्रभाव
वैश्विक स्तर पर, नेटफ्लिक्स, वित्तीय सेवा प्रदान करने वाली कंपनी रॉबिनहुड और कई क्रिप्टो प्लेटफॉर्म्स ने अपने कर्मचारियों की संख्या को कम किया है. अमेरिका में तकनीकी विशेषज्ञों (Techies) की स्थिति बदतर है. क्रंचबेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, 2022 में अब तक अमेरिका में 22,000 से अधिक कर्मचारियों की नौकरी चली गई है.

ये भी पढ़ें – सिंगल यूज प्‍लास्टिक बैन होने से न हों परेशान, कागज से जुड़ा कारोबार कराएगा मोटी कमाई

नेटफ्लिक्स ने कथित तौर पर अपने 4 प्रतिशत कर्मचारियों (450 कर्मचारियों) की छंटनी की थी, जबकि पेपल (PayPal) ने पिछले महीने के अंत तक अपने कर्मचारियों की संख्या के 0.27 प्रतिशत को प्रभावित किया. इसने अपने 83 कर्मचारियों की छंटनी की थी. रॉबिनहुड ने 300 और वर्जिन हाइपरलूप ने 111 कर्मचारियों की छंटनी की.

इन कंपनियों ने भी घटाई वर्कफोर्स
छंटनी की तपिश को महसूस करते हुए, क्रिप्टो एक्सचेंजों और फर्मों सहित, वॉल्ट, बायबिट, कॉइनबेस, जेमिनी, क्रिप्टो डॉट कॉम, बिटपांडा और अन्य ने अपने कर्मचारियों की संख्या को कम करने की घोषणा की है.

पोकेमॉन गो गेम डेवलपर नियांटिक (Niantic) ने 85-90 कर्मचारियों से नौकरी छोड़ने को कहा है (यह आंकड़ा कंपनी के कर्मचारियों की संख्या का आठ प्रतिशत है), जबकि एलन मस्क द्वारा संचालित टेस्ला ने अपने वेतनभोगी कर्मचारियों की संख्या में 10 प्रतिशत की कटौती की है.

Tags: Business news, Indian startups, Jobs in india

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर