Home /News /business /

indian stock market is one of the most expensive markets in the world nikhil kamath told its math jst

दुनिया के सबसे महंगे बाजारों में से एक है भारत, निखिल कामथ ने बताया इसका गणित

एक इंडिकेटर के अनुसार एनएसई दुनिया का सबसे महंगा मार्केट है.

एक इंडिकेटर के अनुसार एनएसई दुनिया का सबसे महंगा मार्केट है.

जेरोधा के सह-संस्थापक निखिल कामथ ने 2 इंडिकेटर्स की मदद से बताया है कि भारत दुनिया के सबसे महंगे मार्केट्स में से एक है. उन्होंने इसके लिए इंडेक्स पीई रेशो और बफेट इंडिकेटर का इस्तेमाल किया है.

नई दिल्ली. ब्रोकेरेज फर्म जेरोधा के सह-संस्थापक निखिल कामथ ने कहा है कि भारतीय शेयर मार्केट अब सस्ता नहीं रह गया है. उन्होंने कहा कि यह दुनिया के सबसे महंगे शेयर बाजारों में से एक है. उन्होंने कहा कि निफ्टी 50 भले ही अपने शीर्ष से 16 फीसदी नीचे गिर गया हो लेकिन यह अब भी बहुत महंगा शेयर बाजार है.

उन्होंने इसे बताने के लिए 2 इंडिकेटर का भी इस्तेमाल किया. पहला इंडेक्स पीई रेशो और दूसरा बफेट इंडिकेटर. इन दोनों ही इंडिकेटर में भारत शीर्ष के तीन महंगे बाजारों में है.

ये भी पढ़ें- शेयर बाजार में 2 हफ्तों का गिरावट का सिलसिला टूटा, किन फैक्टर्स की बदौलत आई तेजी?

इंडेक्स पीई रेशो
उन्होंने ट्विटर पर इसका एक चार्ट शेयर किया जिसमें निफ्टी यूएस व जापान के शेयर मार्केट को पछाड़कर सबसे ऊपर पहुंच गया है. भारत का इंडेक्स पीई रेशो 19.9 जबकि यूएस का 18.95 और जापान के निक्की 225 का 18.79 है. पीई रेशो में सूचकांक के मार्केट कैप को कुल आय से भाग दिया जाता है. पीई रेशो जितना अधिक होगा बाजार उतना ही महंगा होगा. यूके, शंघाई, ब्राजील और जर्मनी के शेयर मार्केट निफ्टी से बहुत पीछे हैं.

बफेट इंडिकेटर
इसकी शुरुआत दिग्गज निवेशक वॉरेन बफेट ने की थी. इसमें सूचकांक पर सूचीबद्ध शेयरों की आय को गणना में शामिल नहीं किया जात. यहां इंडेक्स के मार्केट कैप को देश की जीडीपी से भाग दिया जाता है. यहां भी बफेट इंडिकेटर जितना अधिक होगा मार्केट उतनी ही महंगी होगी. इस इंडिकेटर के अनुसार, भारत तीसरा सबसे बड़ा शेयर मार्केट है. भारत का बफेट इंडिकेटर 94.05 फीसदी है. जबकि 138.90 फीसदी से साथ यूएस पहले व 113.03 फीसदी से जापान इसमें दूसरे स्थान पर है. भारत के बाद यूके का स्थान है. चीन इस इंडिकेटर में सातवें स्थान पर है.

ये भी पढ़ें- 5 ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी: सरकार के पॉलिसी मेकर्स को उम्मीद, मंजिल दूर है, लेकिन असंभव नहीं

शेयर बाजार ने गिरावट का सिलसिला तोड़ा
भारतीय शेयर बाजार में पिछले कारोबारी हफ्ते में तेजी देखने को मिली. 24 जून को खत्म हुए कारोबारी हफ्ते में बाजार तेजी के साथ बंद हुआ. ऐसा 2 कारोबारी हफ्तों बाद देखने को मिला है. समीक्षाधीन सप्ताह में सेंसेक्स व निफ्टी ने 2 फीसदी से अधिक की बढ़त हासिल की. बीएसई का सेंसेक्स इस हफ्ते 1367 अंक (2.66 फीसदी) बढ़कर 52,727 पर बंद हुआ. वहीं, निफ्टी 406 अंक (2.65 फीसदी) बढ़कर 15699 के स्तर पर बंद हुआ. इसके पीछे वैश्विक बाजारों में पॉजिटिव सेंटीमेंट का बड़ा योगदान रहा.

Tags: NSE, Share market, Stock market

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर