दुनिया में सबसे ज्यादा ऑनलाइन मोबाइल फोन भारतीयों ने खरीदे, इन देशों को भी पीछे छोड़ दिया, जानिए डिटेल्‍स

भारत ने 45% पर सबसे अधिक ऑनलाइन हिस्सेदारी दिखाई

काउंटरपॉइंट रिसर्च की रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रमुख देश में, भारत ने 45% पर सबसे अधिक ऑनलाइन हिस्सेदारी दिखाई, इसके बाद यूके में 39% और चीन ने 34% की हिस्सेदारी दिखाई.

  • Share this:
    नई दिल्ली. पिछले साल 2020 में दुनियाभर में कोविड के चलते ऑनलाइन खरीदारी ही एकमात्र उपाय थी. क्योंकि लॉकडाउन के चलते सबकुछ बंद था. आपको यह जानकार हैरानी होगी कि इस दौरान मोबाइल फोन की ऑनलाइन खरीदारी में भारत ने सारे देशों को पीछे छोड़ दिया. इस बात का खुलासा हुआ है काउंटरपॉइंट रिसर्च की रिपोर्ट में जिसमें बताया गया है कि सारे प्रमुख देशों में वर्ष 2020 में भारत में मोबाइल फोन की बिक्री में ऑनलाइन चैनल की हिस्सेदारी लगभग 45% थी. पिछले साल वैश्विक मोबाइल फोन बाजार में ऑनलाइन बिक्री का हिस्सा लगभग 26% था, जिसका अर्थ है कि बेचे गए चार मोबाइल फोन में से एक को ऑनलाइन खरीदा गया था.

    इस बदलाव में COVID-19 की बड़ी भूमिका थी
    रिपोर्ट में कहा गया है, "उपभोक्ता व्यवहार में इस बदलाव में COVID-19 की बड़ी भूमिका थी. प्रमुख देश में, भारत ने 45% पर सबसे अधिक ऑनलाइन हिस्सेदारी दिखाई, इसके बाद यूके में 39% और चीन ने 34% की हिस्सेदारी दिखाई. रिपोर्ट के अनुसार, ऑनलाइन बिक्री में ब्राजील में 31%, अमेरिका में 24%, दक्षिण कोरिया में 16% और नाइजीरिया में 8% की हिस्सेदारी है. मिंट में छपी रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 2020 में ऑनलाइन हैंडसेट की बिक्री (वैश्विक) में पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 6% अंक की वृद्धि हुई, जबकि बाजार के आकार के मामले में इसमें 10% से अधिक की वृद्धि हुई.

    ये भी पढ़ें -  नई इनकम टैक्‍स वेबसाइट की खामियां जल्‍द होंगी दूर! FM निर्मला सीतारमण ने इंफोसिस के अधिकारियों संग की समीक्षा बैठक

    अमेरिका और भारत का 2020 की दूसरी छमाही में सबसे अधिक ऑनलाइन शेयर दर्ज
    यह प्रवृत्ति न केवल अमेरिका और यूरोप जैसे उन्नत बाजारों में बल्कि भारत और लैटिन अमेरिका जैसे उभरते बाजारों में भी मजबूत थी. चीन में, जहां COVID-19 का प्रसार पहली बार हुआ था, यह पहली छमाही में चरम पर था और थोड़ा नरम हुआ. दूसरी छमाही में, जबकि अमेरिका और भारत ने 2020 की दूसरी छमाही में अब तक का सबसे अधिक ऑनलाइन शेयर दर्ज किया है," काउंटरपॉइंट ने कहा. रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि ऑनलाइन शेयर बढ़ाने का यह चलन कुछ समय के लिए धीमा हो जाएगा और यह साल पिछले साल जैसा या थोड़ा कम रहेगा.

    ये भी पढ़ें- Tata Group की इस कंपनी के शेयर ने 1 महीने में दिया 20 फीसदी मुनाफा, अगले 6-9 महीने में करेगा मालामाल

    COVID-19 वैक्सीनेशन के बाद कुछ सहजता देखने को मिलेगी
    काउंटरपॉइंट रिसर्च के वरिष्ठ विश्लेषक सुजोंग लिम ने कहा कि 2020 में तेजी से विकास के बाद, हम उम्मीद करते हैं कि 2021 में COVID-19 वैक्सीनेशन के बाद कुछ सहजता देखने को मिलेगी. हालांकि, यह 2022 के बाद से हर साल थोड़ा बढ़ने की उम्मीद है, उभरते बाजारों में वृद्धि और मध्यम आयु वर्ग की आबादी आईटी उपकरणों और इंटरनेट के अधिक आदी होने से समर्थित है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.