Home /News /business /

इकोनॉमी को झटका! लगातार चौथे महीने कोर सेक्टर की ग्रोथ थमी, नवंबर में घटकर 1.5% पर आई

इकोनॉमी को झटका! लगातार चौथे महीने कोर सेक्टर की ग्रोथ थमी, नवंबर में घटकर 1.5% पर आई

आठ कोर सेक्टरों में से 5 में निगेटिव ग्रोथ रही.

आठ कोर सेक्टरों में से 5 में निगेटिव ग्रोथ रही.

देश में आर्थिक सुस्ती का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. देश में बुनियादी क्षेत्र के 8 उद्योगों के उत्पादन की वृद्धि दर नवंबर में घटकर 1.5% पर आ गई है. यह लगातार चौथा महीना है, जब इन आंकड़ों में गिरावट देखी गई है.

    नई दिल्ली. देश में आर्थिक सुस्ती (Economic Slowdown) का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. देश में बुनियादी क्षेत्र (Core Sector) के 8 उद्योगों के उत्पादन की वृद्धि दर नवंबर में घटकर 1.5% पर आ गई है. यह लगातार चौथा महीना है, जब इन आंकड़ों में गिरावट देखी गई है. 8 सेक्टरों में 5 में निगेटिव ग्रोथ रही. पिछले साल नवंबर में 8 कोर सेक्टर की ग्रोथ में 3.3 फीसदी तेजी दर्ज की गई थी. कोर सेक्टर में अगस्त से गिरावट है.

    इस महीने कोयला, कच्चा तेल, नेचुरल गैस, स्टील और बिजली के उत्पादन में गिरावट आई है. 8 कोर सेक्टरों में कोयला, कच्चा तेल, नेचुरल गैस, रिफाइनरी उत्पाद, फर्टिलाइजर्स, स्टील, सीमेंट और इलेक्ट्रिसिटी शामिल हैं. नवंबर में सीमेंट उत्पादन की दर घटकर 4.1% रही, जो नवंबर 2018 में 8.8% थी.

    ये भी पढ़ें: 1 जनवरी 2020 से बदल जाएंगे ये 10 नियम, आम आदमी पर होगा सीधा असर

    रिफाइनरी उत्पादों में 3.1% और फर्टिलाइजर्स के उत्पादन की वृद्धि दर में 13.6% की बढ़ोतरी दर्ज की गई. अप्रैल से नवंबर के दौरान कोर इंडस्ट्री की ग्रोथ फ्लैट रही. एक साल पहले यह 5.1 फीसदी थी. अक्टूबर में कोर सेक्टर की रफ्तार घटकर 5.8% और सितंबर में 5.2% पर रही थी. नवंबर में कच्चे तेल के उत्पादन में 6% की गिरावट दर्ज की गई है, जो अक्टूबर में 5.1% थी. वहीं, कोयला उत्पादन में नवंबर में 2.5% की गिरावट दर्ज की गई है, जो अक्टूबर में 17.6% थी. अगस्त से ही कोर सेक्टर्स की वृद्धि दर में गिरावट देखी जा रही है.

    ये भी पढ़ें:

    आज ही सबसे पहले निपटाएं ये 4 काम, नहीं तो होगी बड़ी परेशानी, ये है वजह
    SBI ने ग्राहकों को दिया नए साल का तोहफा, 1 जनवरी से 7.90% ब्याज दर पर मिलेगा होम लोन
    PPF, सुकन्या, NSC में पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर! सरकार के इस फैसले से होगा मुनाफे पर असर

    Tags: Business news in hindi, India growth, Indian economy

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर