Home /News /business /

indias exports decreased in april trade deficit reached 20 billion dollar most petroleum and crude imports pmgkp

अप्रैल में भारत का निर्यात कम हुआ, व्यापार घाटा 20 अरब डॉलर पर पहुंचा, सबसे ज्यादा पेट्रोलियम व क्रूड का आयात

सोने का आयात 73 फीसदी घटकर 1.69 अरब डॉलर रहा.

सोने का आयात 73 फीसदी घटकर 1.69 अरब डॉलर रहा.

साल-दर-साल आधार पर, निर्यात और आयात में वृद्धि मजबूत रही. जहां पिछले साल की तुलना में अप्रैल में निर्यात 24.2 प्रतिशत बढ़ा, वहीं आयात 26.6 प्रतिशत अधिक रहा. व्यापार घाटा अप्रैल 2021 की तुलना में 31.2 प्रतिशत अधिक था.

नई दिल्ली. भारत का व्यापारिक निर्यात पिछले महीने यानी मार्च के मुकाबले अप्रैल में घटकर 38.19 अरब डॉलर रहा. मार्च में यह 42.22 अरब डॉलर रहा था. हालांकि इस अनुपात में आयात नहीं घटा है. मार्च में 60.74 बिलियन डॉलर के मुकाबले अप्रैल में यह 58.26 बिलियन डॉलर पर आ गया. इस प्रकार, इस अवधि के दौरान देश का व्यापार घाटा 18.51 अरब डॉलर से बढ़कर 20.07 अरब डॉलर हो गया.

साल-दर-साल आधार पर, निर्यात और आयात में वृद्धि मजबूत रही. जहां पिछले साल की तुलना में अप्रैल में निर्यात 24.2 प्रतिशत बढ़ा, वहीं आयात 26.6 प्रतिशत अधिक रहा. व्यापार घाटा अप्रैल 2021 की तुलना में 31.2 प्रतिशत अधिक था.

यह भी पढ़ें- भारत ने सोयामील के आयात को अनुमति दी, किसानों पर क्या होगा इसका असर?

सबसे ज्यादा पेट्रोलियम की खरीद
भारत के कुल आयात यानी कुल खरीदारी में सबसे बड़ा हिस्सा पेट्रोलियम और कच्चे उत्पादों का रहा. यानी पेट्रोलियम आयात ने आयात के आंकड़े को बढ़ाना जारी रखा. अप्रैल में आयात में पेट्रोलियम और कच्चे उत्पादों का आयात 33.5 प्रतिशत रहा. मूल्य के लिहाज से, इन उत्पादों में से 19.51 बिलियन डॉलर का आयात पिछले महीने किया गया था, जो साल-दर-साल आधार पर 81.2 प्रतिशत की वृद्धि है.

महंगाई का असर आयात पर भी 
दुनियाभर में महंगाई का असर आयात पर भी दिख रहा है. एनर्जी की बढ़ती कीमतों का असर आयातित कोयले के दाम में दिख रहा है. अप्रैल में 4.74 अरब डॉलर मूल्य के कोयला, कोक और ब्रिकेट्स का आयात किया गया, जो पिछले साल के इसी महीने की तुलना में 136.4 प्रतिशत अधिक है.

यह भी पढ़ें- जारी रहेगी महंगाई की मार, पाम ऑयल में तेजी से हर घर में यूज़ होने वाले इन प्रोडक्ट्स के दाम बढ़ेंगे

सोने का आयात घटा
हालांकि सोने का आयात 73 फीसदी घटकर 1.69 अरब डॉलर रहा. निर्यात के मोर्चे पर, 9.20 बिलियन डॉलर का इंजीनियरिंग सामान विदेशों में भेजा गया, जो अप्रैल 2021 से 15.4 प्रतिशत अधिक है. उच्च ऊर्जा की कीमतों ने भारत के पेट्रोलियम उत्पादों के निर्यात में भी मदद की. अप्रैल के लिए अंतिम व्यापार डेटा मई के मध्य में जारी किया जाएगा.

Tags: Cyber Export, Export, Import-Export, Indian export, Manufacturing and exports

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर