अपना शहर चुनें

States

Indigo Paints IPO: कंपनी ने दी प्राइस बैंड से लेकर लॉट साइज समेत कई जानकारी

इंडिगो पेंट्स का आईपीओ 20 से 22 जनवरी तक खुला रहेगा. (Photo: Indigopaints.com)
इंडिगो पेंट्स का आईपीओ 20 से 22 जनवरी तक खुला रहेगा. (Photo: Indigopaints.com)

Indigo Paints IPO Date: इंडिगो पेंट्स का आईपीओ 20 जनवरी से लेकर 22 जनवरी तक के लिए खुलेगा. इस आईपीओ के जरिए कंपनी 300 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है. कंपनी ने प्राइस बैंड और लॉट साइट के बारे में भी जानकारी दे दी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. बाजार में तेजी के बीच एक और पॉपुलर कंपनी ने आईपीओ के बारे में कई जानकारी दी है. देश की पांचवीं सबसे बड़ी डेकोरेटिव पेंट कंपनी इंडिगो पेंट्स ने बताया है कि उसका आईपीओ 20—22 जनवरी तक के लिए खुलेगा. नये साल पर यह दूसरा आईपीओ होगा. इसके पहले इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉरपोरेशन यानी आईआरएफसी भी अपना आईपीओ लाने वाला है.

इस आईपीओ के जरिए इंडिगो पेंट्स 300 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रहा है. कंपनी के प्रमोटर्स और इनवेस्टर्स 58.40 लाख शेयरों की बिक्री करेंगे. ऑफर फॉर सेल (OFS) में 20.05 लाख शेयर सीकोया कैपिटल इनवेस्टमेंट IV. 21.65 लाख इक्विटी शेयर SCI इनवेस्टमेंट्स V और 16.7 लाख इक्विटी शेयर प्रमोटर हेमंत जालान बेचने वाले हैं.

क्या होगा प्राइस बैंक और लॉट साइज
कंपनी के 70,000 इक्विटी शेयर कर्मचारियों के सब्सक्रिप्शन के लिए रिजर्व रहेगा. प्रमोटर्स और इनवेस्टर्स ने मर्चेंट बैंकर्स के साथ मिलकर इंडिगो पेंट्स का प्राइस बैंड 1480-1490 रुपए तय किया है. एक लॉट 10 शेयरों का होगा. निवेशकों को कम से कम एक लॉट के लिए बोली लगानी होगी.
यह भी पढ़ें: जैक मा को तगड़ा झटका! अलीबाबा और एंट ग्रुप का राष्ट्रीयकरण कर सकती है चीन की शी जिनपिंग सरकार



फंड को कहां इस्तेमाल करेगी कंपनी?
कंपनी इस फंड का इस्तेमाल तमिलनाडु के पुड्डुकोटाई की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के विस्तार में करेगी. इसके अलावा 150 करोड़ रुपए की लागत से एक अलग प्लांट लगाया जाएगा. कंपनी 50 करोड़ रुपए में टिंटिंग मशीन और ज़ीरोशेकर्स खरीदेगी. इसके अलावा 25 करोड़ रुपए का इस्तेमाल रीपेमेंट में किया जाएगा.

एम एस धोनी हैं ब्रांड अंबेसडर
इंडिगो देश की टॉप-5 पेंट कंपनियों में है जिसका कारोबार तेजी से बढ़ रहा है. कंपनी अपने पेंट्स Indigo ब्रांडनेम से ही बेचती है. इसका डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क 27 राज्यों और 7 केंद्रशासित प्रदेशों में फैला है. पूर्व इंडियन क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी इसके ब्रांड अंबेसडर हैं.

यह भी पढ़ें: Mutual Funds vs Bitcoin: जोखिम और रिटर्न के मामले में क्या है बेहतर विकल्प, जानिए यहां

सितंबर 2020 तक कंपनी के पास तीन मैन्युफैक्चरिंग प्लांट हैं. ये प्लांट राजस्थान के जोधपुर, केरल के कोच्चि और पुड्डुकोटई में है. इसकी इंस्टॉल्ड क्षमता सालाना 1,01,903 किलोलीटर लिक्विड पेंट की है. इसके अलावा पुट्टी और पाउडर पेंट्स में इसकी सालाना क्षमता 93,228 मीट्रिक टन है. कंपनी के इश्यू का लीड मैनेजर कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी, इडलवाइज फाइनेंशियल सर्विसेज और ICICI सिक्योरिटीज है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज