Home /News /business /

industrial production grew by 1 9 percent in march a growth of 11 3 percent in 202122 arnod

Indian Economy: मार्च में 1.9 फीसदी रही उद्योगों की विकास दर, पूरे वित्त वर्ष में 11.3 फीसदी रहा आईआईपी

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

देश का औद्योगिक उत्पादन मार्च 2022 में 1.9 फीसदी रहा है. इससे पहले फरवरी में इंडस्ट्रियल ग्रोथ 1.5 फीसदी रही थी. पूरे वित्त वर्ष 2021-22 में औद्योगिक उत्पादन में 11.3 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

नई दिल्ली. महामारी नियंत्रित रहने से आर्थिक गतिविधियों में तेजी आ रही है और देश की अर्थव्यवस्था लगातार सुधर रही है. सरकार ने गुरुवार को मार्च 2022 के औद्योगिक उत्पादन (IIP) के आंकड़े जारी कर दिए. फरवरी 2022 के मुकाबले इसमें वृद्धि दर्ज की गई है लेकिन सालाना आधार पर देखें तो इसमें गिरावट आई है.

देश का औद्योगिक उत्पादन मार्च 2022 में 1.9 फीसदी रहा है. इससे पहले फरवरी में इंडस्ट्रियल ग्रोथ 1.5 फीसदी रही थी. पिछले साल मार्च में औद्योगिक उत्पादन 24.2 फीसदी बढ़ा था. आंकड़ों के मुताबिक, पूरे वित्त वर्ष 2021-22 में औद्योगिक उत्पादन में 11.3 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. 2020-21 में इसमें 8.4 फीसदी की गिरावट आई थी. मार्च 2020 में महामारी की वजह से औद्योगिक उत्पादन बुरी तरह प्रभावित हुआ था. उस समय इसमें 18.7 फीसदी की बड़ी गिरावट आई थी.

ये भी पढ़ें- खुदरा महंगाई दर 8 साल के हाई पर, अप्रैल में रिकॉर्ड 7.79 फीसदी पर पहुंची

कोर सेक्टर में आई गिरावट

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, मार्च 2022 में मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र की ग्रोथ रेट 0.9 फीसदी रही है. मार्च 2021 में यह 28.4 फीसदी रही थी. इस दौरान माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ 4 फीसदी रही जो इससे पिछले साल की समान अवधि में 6.1 फीसदी रही थी. इसी तरह, बिजली क्षेत्र की विकास दर 6.1 फीसदी रही है. यह मार्च 2021 में 22.5 फीसदी रही थी. ये सभी क्षेत्र बुनियादी उद्योगों की श्रेणी में आते हैं. आईआईपी के कुल भार में 40.3 फीसदी हिस्सा 8 बुनियादी उद्योगों का होता है.

दूसरे सेक्टर भी गिरे

आंकड़ों के मुताबिक, मार्च 2022 में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स सेक्टर में सालाना आधार पर नॉन कंज्यूमर ड्यूरेबल्स ग्रोथ 29.2% से घटकर शून्य से 5% फीसदी नीचे पर आ गई है. जबकि कंज्यूमर ड्यूरेबल्स ग्रोथ 59.9% से घटकर शून्य से 3.2% नीचे रही है. इंफ्रास्ट्रक्चर गुड्स ग्रोथ 35.1% से घटकर 7.3% रही है. जबकि सालाना आधार पर इंटरमीडिएट गुड्स ग्रोथ 22.4% से घटकर 0.6% रही है.

ये भी पढ़ें- LIC IPO: ग्रे मार्केट से नहीं आ रहे शुभ संकेत, क्‍या एलआईसी आईपीओ डुबोएगा निवेशकों की लुटिया?

सालाना आधार पर कैपिटल गुड्स ग्रोथ 50.4% से घटकर 0.7% रही. जबकि प्राइमरी गुड्स ग्रोथ 7.9% से घटकर 5.7% पर आ गई है. इलेक्ट्रिसिटी ग्रोथ सालाना आधार पर 22.5% से घटकर 6.1% रही है.

Tags: Economic growth, India economy, India growth, Indian economy

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर