आर्थिक सुधार के संकेत! 3 महीने बाद पॉजिटिव हुई इंडस्ट्रियल ग्रोथ, -3.80% से बढ़कर 1.80%

आर्थिक सुधार के संकेत! 3 महीने बाद पॉजिटिव हुई इंडस्ट्रियल ग्रोथ, -3.80% से बढ़कर 1.80%
नवंबर में इंडस्ट्रियल ग्रोथ (Index of Industrial Production) 3 महीने बाद पॉजिटिव हुई है. यह -3.80 फीसदी से बढ़कर 1.80 फीसदी हो गई है.

नवंबर में इंडस्ट्रियल ग्रोथ (Index of Industrial Production) 3 महीने बाद पॉजिटिव हुई है. यह -3.80 फीसदी से बढ़कर 1.80 फीसदी हो गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 10, 2020, 6:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर केंद्र सरकार को बड़ी राहत मिली है. नवंबर में इंडस्ट्रियल ग्रोथ (Index of Industrial Production) 3 महीने बाद पॉजिटिव हुई है. यह -3.80 फीसदी से बढ़कर 1.80 फीसदी हो गई है. साथ ही, साल 2018 के नवंबर महीने के मुकाबले 0.50 फीसदी बढ़कर 1.80 फीसदी रही है. आपको बता दें कि अक्टूबर महीने में IIP ग्रोथ -3.8 फीसदी थी. जबकि इससे पहले सितंबर में यह -5.4 फीसदी थी. आपको बता दें कि औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) का किसी भी देश की अर्थव्यवस्था में खास महत्व होता है. इससे पता चलता है कि उस देश की अर्थव्यवस्था में औद्योगिक वृद्धि किस गति से हो रही है.

 3 महीने बाद पॉजिटिव हुई इंडस्ट्रियल ग्रोथ (Index of Industrial Production)- एनएसओ (NSO-National Statistical Office) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, मौजूदा वित्त वर्ष के अप्रैल से नवंबर महीने के दौरान IIP ग्रोथ 0.60 फीसदी रही है. जबकि, बीते वित्त वर्ष (FY2018-19) में ये 5 फीसदी थी.





एक्सपर्ट्स का कहना है कि आईआईपी ग्रोथ में रिकवरी मैन्युफैक्चरिंग एक्टिविटी बढ़ने से आई है. आंकड़ों के मुताबिक, साल 2018 के मुकाबले मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ -0.7 फीसदी से बढ़कर 2.7 फीसदी हो गई है. हालांकि, इलेक्ट्रीसिटी में ग्रोथ नहीं आना अभी भी बड़ी चिंता की बात है. ये इस बात का संकेत है कि मौजूदा ग्रोथ टिकाऊ नहीं है.


अब क्या होगा- एसकोर्ट सिक्योरिटी के रिसर्च हेड आसिफ इकबाल का कहना है कि अच्छे आईआईपी आंकड़ों का असर सोमवार को शेयर बाजार पर दिखेगा. ऐसे में निवेशकों निफ्टी के बड़े शेयरों पर पैसा लगाकर अच्छा मुनाफा कमा सकते है.

पावर ग्रिड खरीदें- ब्रोकरेज हाउस के पसंदीदा शेयर पर नजर डालें तो क्रेडिट सुइस को मौजूदा स्तर पर पावर ग्रिड का शेयर आकर्षक लग रहा है. रिपोर्ट में कहा गया है कि शेयर में 34 फीसदी की बढ़त आ सकती है. शेयर पर 250 रुपये का लक्ष्य तय किया है.

आपको बता दें कि पावर ग्रिड का पावर ट्रांसमिशन में 50% हिस्सा है. कंपनी डिफेंस, टेलीकॉम कंपनियों को भी सेवाएं देती है. पहली छमाही में कुल 12,274 करोड़ का Capex है. वित्त वर्ष 2019 में Capex लक्ष्य 25000 करोड़ था.

ये भी पढ़ें :-

6 साल में यहां 6 लाख रुपये लगाने वाले बन गए करोड़पति!
बजट में सरकार एक बार फिर से इतने फीसदी तक घटा सकती है कॉर्पोरेट टैक्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading