Home /News /business /

औद्योगिक उत्पादन मई 2021 में 29.3 फीसदी बढ़ा, फरवरी तक दर्ज हुई थी गिरावट, जानें किस सेक्‍टर में हुई कितनी ग्रोथ

औद्योगिक उत्पादन मई 2021 में 29.3 फीसदी बढ़ा, फरवरी तक दर्ज हुई थी गिरावट, जानें किस सेक्‍टर में हुई कितनी ग्रोथ

अप्रैल के बाद मई 2021 के दौरान भी औद्योगिक उत्‍पादन में वृद्धि दर्ज हुई है.

अप्रैल के बाद मई 2021 के दौरान भी औद्योगिक उत्‍पादन में वृद्धि दर्ज हुई है.

केंद्र सरकार के आंकड़ों के मुताबिक, औद्योगिक उत्‍पादन में मई के दौरान 29.3 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई. औद्योगिक उत्‍पादन के सूचकांक (IIP) के मुताबिक, विनिर्माण क्षेत्र (Manufacturing Sector) में इस दौरान 34.5 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्‍ली. कोरोना संकट के कारण बने कारोबारी हालात के बाद भी औद्योगिक उत्‍पादन (Industrial Production) के मोर्चे पर अच्‍छी खबर है. दरअसल, केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से सोमवार को जारी औद्योगिक उत्‍पादन (IIP) के आंकड़ों के मुताबिक, साल-दर-साल आधार पर मई 2021 में करीब 30 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. पिछले साल के मुकाबले अप्रैल 2021 के दौरान इसमें 134 फीसदी और मार्च में 22.4 फीसदी की शानदार बढ़ोतरी दर्ज की गई थी. हालांकि, कोरोना संकट से पहले मई 2019 के आंकड़ों से तुलना करने पर इस साल मई में औद्योगिक उत्‍पादन 13.4 फीसदी घटा है.

    मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर के उत्‍पादन में 34.5% वृद्धि
    केंद्र सरकार के आंकड़ों के मुताबिक, औद्योगिक उत्‍पादन में मई के दौरान 29.3 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई. औद्योगिक उत्‍पादन के सूचकांक (IIP) के मुताबिक, विनिर्माण क्षेत्र (Manufacturing Sector) में इस दौरान 34.5 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई. इसमें अप्रैल 2021 के दौरान 200 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया था. वहीं, मार्च में विनिर्माण क्षेत्र में 25.8 फीसदी की तेजी आई थी. खनन क्षेत्र (Mining Sector) में उत्‍पादन 23.3 फीसदी और बिजली उत्‍पादन (Electricity Production) में 7.5 फीसदी का उछाल आया है. बता दें कि मई 2020 में आईआईपी में 33.4 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी.

    ये भी पढ़ें- आम आदमी को झटका! जून 2021 में खुदरा महंगाई दर 6.26% पर पहुंची, लगातार दूसरे महीने लक्ष्‍य से रही ज्‍यादा

    फार्मा व मेडिसिनल केमिकल्‍स उत्‍पान में गिरावट
    मई 2021 के दौरान 23 में से 22 सेक्‍टर में साल-दर-साल आधार पर उत्‍पादन में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. मार्च के मुकाबले सभी 23 सेक्‍टर के उत्‍पादन में वृद्धि हुई है. हालात के उलट फार्मास्‍युटिकल्‍स व मेडिसिनल केमिकल्‍स के उत्‍पान में मई 2021 के दौरान गिरावट दर्ज की गई है. लो बेस इफेक्‍ट के कारण कैपिटल गुड्स सेगमेंट में मई 2021 के दौरान 85 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई. इससे पता चलता है कि इंडस्‍ट्री में निवेश भी बढ़ा है. अप्रैल के दौरान इसमें 1077 फीसदी की ताबड़तोड़ वृद्धि हुई थी.

    ये भी पढ़ें - 7th Pay Commission: जुलाई 2021 में ही बढ़ेगा महंगाई भत्‍ता! पीएम नरेंद्र मोदी दे सकते हैं DA बढ़ाने की मंजूरी

    अप्रैल 2020 में दर्ज की गई थी 57 फीसदी गिरावट
    कोरोना वायरस महामारी के कारण मार्च 2020 से औद्योगिक उत्‍पादन में लगातार गिरावट आ रही थी. मार्च 2020 में इसमें 18.7 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी. इसके बाद अप्रैल 2020 में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) के कारण आर्थिक गतिविधियां (Economic Activities) ठप हो गई थीं. इसकी वजह से अप्रैल 2020 के दौरान औद्योगिक उत्‍पादन में 57.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी. कोरोना संकट के तेजी से फैलने के पहले फरवरी 2020 के दौरान आईआईपी में 5.2 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई थी.

    Tags: Business news in hindi, Economic growth, India growth, Indian economy, Modi government, Production cuts

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर