देश के औद्योगिक उत्‍पादन में 22.4 फीसदी की जबरदस्‍त बढ़ोतरी, माइनिंग सेक्‍टर में 11 फीसदी से ज्‍यादा का उछाल

देश में मार्च 2021 के दौरान सभी सेक्‍टर्स में जबरदस्‍त बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

देश में मार्च 2021 के दौरान सभी सेक्‍टर्स में जबरदस्‍त बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

भारत के औद्योगिक उत्‍पादन (Industrial Output) में मार्च 2021 के दौरान लो बेस इफेक्‍ट (Low Base Effect) के कारण 22.4 फीसदी की शानदार वृद्धि देखने को मिली. वहीं, फरवरी 2021 में इसमें 3.6 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी. मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर (Manufacturing) की ग्रोथ बढ़कर 25.8 फीसदी पर पहुंच गई.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. कोरोना संकट के बीच महंगाई दर (Inflation Rate) घटने की खबर के साथ ही औद्योगिक उत्‍पादन (Industrial Production) में जबरदस्‍त बढ़ोतरी की राहत भरी खबर भी आई है. महीने दर महीने आधार पर मार्च 2021 में भारत के औद्योगिक उत्‍पादन में लो बेस इफेक्ट के चलते 22.4 फीसदी की शानदार बढ़ोतरी दर्ज की गई. इससे पिछले महीने यानी फरवरी 2021 के दौरान औद्योगिक उत्‍पादन में 3.6 फीसदी की गिरावट देखने को मिली थी. वहीं, इस दौरान खनन क्षेत्र (Mining Sector) में 11 फीसदी से ज्‍यादा बढ़ोतरी हुई है. माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ फरवरी की -5.5 फीसदी से बढ़कर मार्च 2021 में 6.1 फीसदी पर आ गई है.

इलेक्ट्रिसिटी सेक्‍टर की ग्राथ मार्च 2021 में बढ़कर हुई 22.5%

देश के औद्योगिक उत्‍पादन में 2021 के पहले महीने से ही गिरावट देखने को मिल रही थी. जनवरी 2021 में आईआईपी (IIP) में 0.9 फीसदी की गिरावट आई थी. हालांकि, इसके दिसंबर 2020 के दौरान इसमें 1.6 फीसदी की बढ़त देखने को मिली थी. अनुमान था कि मार्च में आईआईपी ग्रोथ 16.55 फीसदी पर रहेगी. मार्च 2021 के दौरान माइनिंग सेक्टर की शानदार बढ़ोतरी के साथ ही मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ (Manufacturing Sector Growth) फरवरी 2021 की -3.7 फीसदी से बढ़कर 25.8 फीसदी पर पहुंच गई है. देश के इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर की ग्रोथ फरवरी के 0.1 फीसदी से बढ़कर मार्च 2021 में 22.5 फीसदी पर आ गई है.

ये भी पढ़ें- आम आदमी को राहत! खाने-पीने की चीजों के दाम कम होने से घटी खुदरा महंगाई दर, 3 महीने के निचले स्‍तर पर पहुंची
मार्च 2021 के दौरान हर सेक्‍टर में दर्ज हुई शानदार बढ़त

देश के प्राइमरी गुड्स सेक्टर (Primary Goods Sector) की ग्रोथ फरवरी के -5.1 फीसदी से बढ़कर मार्च में 7.7 फीसदी पर आ गई. इसी अवधि में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ महीने दर महीने आधार पर -4.2 फीसदी से बढ़कर 41.9 फीसदी पर आ गई. इंटरमीडिएट गुड्स सेक्टर की ग्रोथ फरवरी के -5.6 फीसदी से बढ़कर मार्च में 21.2 फीसदी पर आ गई है. इसके अलावा इंफ्रा गुड्स ग्रोथ 4.7 फीसदी से बढ़कर 31.2 फीसदी पर आ गई. इसी तरह इस अवधि में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स की ग्रोथ फरवरी के 6.3 फीसदी से बढ़कर माच्र 2021 में 54.9 फीसदी पर आ गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज